WHO ने जारी की चेतावनी, कोरोना महामारी बढ़ी तो हर 16 सेकेंड में एक मृत बच्चा होगा पैदा

देशभर में कोरोना वायरस का संक्रमण बढ़ता जा रहा है। एक तरफ लोगों के मन में अभी कोरोना का डर बरकरार है वहीं दूसरी तरफ विश्व स्वास्थ्य संगठन ( WHO ), संयुक्त राष्ट्र बाल कोष (Unicef) और उनके सहयोगी संगठनों ने चेतावनी जारी की है जो और भी डरा देने वाली बात है। दरअसल, WHO, Unicef और उनके सहयोगी संगठनों ने कोरोना महामारी से प्रेग्नेंट महिलाओं और उनके गर्भ के लिए बडे खतरे को लेकर चेतावनी जारी करते हुए कहा कि कोरोना महामारी बढ़ी तो हर 16 सेकेंड में एक मृत बच्चा पैदा होगा और हर साल 20 लाख से भी ज्यादा ‘स्टिलबर्थ’ के केस सामने आएंगे। WHO ने आगे कहा कि रिपोर्ट्स के मुताबिक इनमें से ज्यादातर मामले विकासशील देशों से जुड़े होंगे।

WHO ने गुरुवार को एक रिपोर्ट जारी करते हुए इस बात का खुलासा किया है कि हर साल करीब 20 लाख शिशु मृत पैदा (स्टिलबर्थ) होते हैं और ये मामले ज्यादातर विकासशील देशों से जुड़े हैं। संयुक्त राष्ट्र स्वास्थ्य एजेंसी ने कहा कि पिछले वर्ष उप-सहारा अफ्रीका अथवा दक्षिण एशिया में चार जन्म में से तीन ‘स्टिलबर्थ’ थे। गर्भाधान के 28 हफ्ते या उसके बाद मृत शिशु के पैदा होने अथवा प्रसव के दौरान शिशु की मौत हो जाने को ‘स्टिलबर्थ’ कहते हैं। संयुक्त राष्ट्र स्वास्थ्य एजेंसी ने कहा कि पिछले वर्ष उप-सहारा अफ्रीका अथवा दक्षिण एशिया में चार जन्म में से तीन ‘स्टिलबर्थ’ थे।

स्टिलबर्थ’ के 40 प्रतिशत से अधिक मामले

रिपोर्ट में चेतावनी दी गई कि कोविड-19 महामारी से ये वैश्विक आंकड़े बढ़ सकते हैं। इसमें कहा गया है संक्रमण के कारण स्वास्थ्य सेवाएं 50 प्रतिशत तक घटी हैं और इसके परिणामस्वरूप अगले वर्ष 117 विकासशील देशों में 2,00,000 और ‘स्टिलबर्थ’ हो सकते हैं। WHO ने कहा, कि ‘स्टिलबर्थ’ के 40 प्रतिशत से अधिक मामले प्रसव के दौरान के हैं और अगर महिलाएं दक्ष स्वास्थ्य कर्मियों की मदद से सुरक्षित प्रसव कराए तो ऐसे मामलों को रोका जा सकता है। WHO के मुताबिक विकासित देशों में जातीय अल्पसंख्यकों में ‘स्टिलबर्थ’ के मामले ज्यादा होते हैं. उदाहरण के तौर पर कनाडा में इन्यूइट समुदाय की महिलाओं में पूरे देश के मुकाबले ‘स्टिलबर्थ’ के मामले तीन गुना ज्यादा होते हैं।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password