WHO ने कहा- ‘कोरोना वायरस आखिरी महामारी नहीं’, कनाडा और स्वीडन में भी मिला म्यूटेशन वाला वायरस

कोरोना वायरस महामारी से एक तरफ जहां लोग उभरे नहीं हैं वहीं दूसरी तरफ विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के स्टेटमेंट से और भी डरा दिया है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने कहा कि कोरोना वायरस दुनिया में आने वाली आखिरी महामारी नहीं है। WHO चीफ टेड्रोस गेब्रयेसस का कहना है कि कोरोना के खिलाफ महामारी सिर्फ पैसों को बहाने से पूरी नहीं होगी बल्कि हमें भविष्य के लिए भी तैयारी करनी होगी।

WHO के मुताबिक, जब तक हम जलवायु परिवर्तन और पशु कल्याण से नहीं निपटेंगे तब तक ह्यूमन हेल्थ में सुधार की कोशिशें सफल नहीं हो सकती हैं। आगे उन्होंने कहा कि हम एक आपदा से निपटने के लिए पैसों का इस्तेमाल करते हैं और जब वह आपदा खत्म हो जाती है तो हम उसे भूला देते हैं। लेकिन हम भविष्य के बारे में नहीं सोचते की हमें इससे बचने के लिए कदम उठाना बंद नहीं करना चाहिए।

ब्रिटेन में कोरोना वायरस की नई स्ट्रेन

वहीं, ब्रिटेन में मिले कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन से संक्रमित मरीज दूसरे देशों में भी सामने आने लगे हैं। जापान और फ्रांस के बाद स्पेन, कनाडा और स्वीडन में भी इसके मामले मिले हैं। शनिवार को स्वीडन में इस नए स्ट्रेन का एक और कनाडा में दो मामले सामने आए। स्वीडन की हेल्थ एजेंसी ने बताया कि ब्रिटेन से लौटे एक पैसेंजर के बीमार पड़ने के बाद उसकी जांच कराई गई। जांच में कोरोना के नए रूप की पुष्टि हुई। वहीं, कनाडा में मिले दोनों मरीज हाल ही में ब्रिटेन से लौटे थे।

दुनिया में कोरोना मरीजों का आंकड़ा 8.07 करोड़ के ज्यादा हो गया। 5 करोड़ 68 लाख से ज्यादा लोग ठीक हो चुके हैं। अब तक 17 लाख 64 हजार से ज्यादा लोग जान गंवा चुके हैं। ये आंकड़े www.worldometers.info/coronavirus के मुताबिक हैं।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password