Har Har Shambhu : कौन हैं 'हर-हर शंभू' गाने वाली मुस्लिम फरमानी नाज, मिल रही जान से मारने की धमकियां

Har Har Shambhu : कौन हैं ‘हर-हर शंभू’ गाने वाली मुस्लिम फरमानी नाज, मिल रही जान से मारने की धमकियां

Har Har Shambhu : इन दिनों सोशल मीडिया के सभी प्लेटफॉर्म पर ‘हर-हर शंभू’ (Har Har Shambhu) भजन तेजी से वायरल हो रहा है। भजन को काफी पसंद किया जा रहा है। लेकिन क्या आपको पता है कि इस भजन को एक मुस्लिम लड़की (Singer Farmani Naaz) ने गाया है। यह भजन इंडियन आइडल की पूर्व कंटेस्टेंट रही यूट्यूब सिंगर फरमानी नाज (Singer Farmani Naaz) ने गाया है। नाज के भजन को तो सनातन धर्म में काफी पसंद किया जा रहा है। लेकिन इस्लाम में उनका विरोध शुरू हो गया है।

श्रावण मास में इन दिनों कांवड़ यात्रा निकाली जा रही है। कांवड़ यात्रा के दौरान ‘हर-हर शंभू’ (Har Har Shambhu) को भगवान शिव के भक्त गाते हुए यात्रा पर है। इसी को लेकर देवबंद के उमेला फरमानी नाज (Singer Farmani Naaz) से नाराज हो गए है। उमेला ने कहा है कि इस्लाम में ऐसे गाने की मनाही है। फरमानी नाज (Singer Farmani Naaz) को ऐसा गाना नहीं गाना चाएिह। इतना ही नहीं सोशल मीडिया पर फरमानी नाज (Singer Farmani Naaz) को तेजी से ट्रोल भी किया जाने लगा है। काइ्र लोगों ने तो उन्हें जान से मारने की धमकी तक दे डाली है। मामले में फरमानी नाज (Singer Farmani Naaz) ने कहा है कि मैं एक कलाकार हूं, और एक कलाकार को ऐसे गाने गाने पड़ते है।

कौन हैं फरमानी नाज

फरमानी नाज (Singer Farmani Naaz) यूपी के मुजफ्फरपुर नगर के मोहम्मदपुर गांव की रहने वाली है। उनकी शादी मेरठ के छोटा हसनपुर गांव में हुई थी। लेकिन उनके पति ने उन्हें छोड़कर दूसरी शादी कर ली। उनका एक साल बाद बेटा भी है। पति के दूसरी शादी करने के बाद से फरमानी (Singer Farmani Naaz) गाने गाकर परिवार का भरण पोषण कर रही है। फरमानी एक यूट्यूबर है। यूट्यूब पर उनका एक चौनल भी है। वह भजन गाती हैं। वह मायके में ही रहती है। फरमानी नाज (Singer Farmani Naaz) इंडियन आइडल में भी जा चुकी है। लेकिन उनके बेटे की तबियत खराब होने के चलते वह वापस लौट आई थी। फरमानी नाज के ‘हर-हर शंभू’ (Har Har Shambhu गाने को उनके गांव के ही एक लड़के ने यूट्यूब पर डाल दिया था। इसके बाद उनका भजन तेजी से वायरल हो गया।

फरमानी नाज का बयान

फरमानी नाज (Singer Farmani Naaz) का कहना है कि वह एक कलाकार हैं और कलाकार को ऐसे गाना गाने पड़ते है। मोहम्मद रफी साहब ने भी कई भजन गाए हैं। नाज ने लोगों से अपील की है कि वह किसी भी गाने को धर्म से नहीं जोड़े। उन्होंने आगे कहा है कि वह किसी के विरोध को महत्व नहीं देती है। कोई भी कलाकार धर्म देखकर प्रदर्शन नहीं करता है। और जो ऐसा करता है वह कभी कलाकार नहीं कहलाता और न ही बन सकता है।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password