क्या है ये NFT, जिसमें अमिताभ बच्चन से लेकर सोनू निगम तक कमाई के लिए किस्मत आजमा रहे हैं

nft

नई दिल्ली। मार्केट को समझने वाले लोगों में इन दिनों NFT को लेकर काफी क्रेज है। एक के बाद एक बॉलीवुड स्टार से लेकर क्रिकेटर तक अपने NFT लॉन्च कर रहे हैं। इसी कड़ी में शुक्रवार को प्रोद्योगिकी कंपनी जेटसिंथेसिस ने बॉलीवुड सिंगर सोनू निगम के साथ मिलकर भारतीय संगीत उद्योग की पहली एनएफटी श्रृंखला शुरू करने का फैसला किया है। ऐसे में आप भी सोच रहे होंगे की आखिर ये NFT है क्या? और लोगों को इससे क्या फायदा होता है।

क्या है NFT?

बतादें कि NFT एक डिजिटल टोकन है। जिसे ब्लॉकचेन तकनीक का इस्तेमाल करके बनाया जाता है। NFT का मतलब है ‘नॉन फंजिबल टोकन’ Non Fungible token) इसे ऐसे भी समझ सकते हैं कि किसी अर्थव्यवस्था में फिंजिबल एसेट का महत्वपूर्व योगदान होता है। यानी आप जिसे हाथों-हाथ लेन-देन कर सकते हैं। जैसे आपके पास 200 रूपये का नोट है, जिनका आप लेन-देन कर पाते हैं। ये नोट फंजिबल एसेट कहलाते हैं। इसके उलट नॉन-फिंजिबल एसेट होते हैं। जिसे NFT कहा जाता है। इससे विनिमय या लेन-देन नहीं होता। यही कारण है कि इसे विटकॉइन जैसी डिजिटल करेंसी से भी अगल माना जाता है।

NFT को आप नए दौर की नीलामी भी समझ सकते हैं

NFT की मदद से आप डिजिटल जगत में किसी पेंटिंग, किसी पोस्टर ,ऑडियो या वीडियो को सामान्य चीजों की तरह खरीद या बेच सकते हैं। इसके बदले आपको डिजिटल टोकन दिया जाता है। इस टोकन को ही NFT कहा जाता है। NFT को आप नए दौर की नीलामी भी समझ सकते हैं। कोई आर्टवर्क या फिर कोई ऐसी चीज जिसकी दूसरी कॉपी दुनिया में न हो तो आप उसे NFT करके पैसे कमा सकते हैं।

NFT आप आम तौर पर क्रिप्टोकरेंसी के जरिए ही करते हैं

NFT की एक और खासियत ये है कि अगर आप खुद की बनाई गई पेंटिंग NFT करते हैं तो आपको तब तक पैसे मिलते रहेंगे जब तक कि वो पेटिंग बेची जाती रहेगी। यानी जिंदगीभर आपको उस पेटिंग की कमाई का एक हिस्सा मिलता रहेगा। NFT आप आम तौर पर क्रिप्टोकरेंसी के जरिए ही करते हैं। यानी आप अपने आर्ट वर्क को NFT करना चाहते हैं तो उसके लिए जो ट्राजैक्शन होगा वो क्रिप्टोकरेंसी के जरिए ही होगा।

ऐसे करें अपना NFT

अब सवाल उठता है कि NFT को तैयार कैसे करें। अगर आप खुद का NFT तैयार करना चाहते हैं तो सबसे पहले आपको एक ऑनलाइन वॉलेट क्रिएट करना होगा, जिसमें NFTs होल्ड की जा सकें। क्रिप्टो असेट्स को जिस वॉलेज में स्टोर किया जाता है, उसे ‘प्राइवेट की’ की मदद से ऐक्सेस किया जा सकता है। यह प्राइवेट की किसी सुपर सिक्योर पासवर्ड की तरह काम करती है, जिसके बिना NFT ओनर टोकन्स ऐक्सेस नहीं कर सकते। इस वॉलेट को आपको मेटामास्क जैसी किसी सर्विस से लिंक करना होगा।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password