What is Internet: क्या आपने कभी सोचा है,इंटरनेट कैसे करता है काम

What is Internet: क्या आपने कभी सोचा है,इंटरनेट कैसे करता है काम

History of Internet: क्या आप जानते है कि है भारत में इंटरनेट कि शुरुआत कब हुई ,कैसे हुई और ये किस तरह से काम करता है। आइए जानते है भारत में इंटरनेट की शुरुआत 1986 से हुई और तब से अब तक इस क्षेत्र में भारत ने काफी तरक्की की है शरुआत में आईआईटी जिनमें बेंगलुरु, दिल्ली, मुंबई खड़गपुर, कानपुर और मद्रास आदि को जोड़ा गया था। अगर शुरुआती दौर की बात की जाए तो भारत में इंटरनेट की स्पीड 9.6 kbit/s थी।

आज इंटरनेट (Internet) दुनिया भर में व्यापक रूप से फ़ैल गया है बिना इंटरनेट के भला अब कोई कल्पना भी नहीं कर सकता है। बिना इंटरनेट को हम अपने आप को पूर्ण नहीं पा सकते है। फेसबुक (Facebook), ट्विटर से लेकर इंस्टाग्राम (Instagram) और यूट्यूब के लोग इतने आदि हो चुके है घंटो घंटे इनके उपयोग करते है। बड़े उम्र के लोग ही नहीं बच्चे भी ऑनलाइन गेमिंग में काफी समय गुजारते है। बहुत से ज़रूरी काम मिनटों में इंटरनेट की मदद से आसानी हो जाते है। हम कह सकते है कि दुनिया में जो आज कनेक्ट विटी बढ़ी है वो सब इंटरनेट के माध्यम से हो पाई। आज कहीं भी जाना हो चुटकियों में इंटरनेट कि मदद से आसानी से टिकट हो जाते है। आइए जानते है आज इस अत्यंत उपयोगी माध्यम इंटरनेट के बारे में आखिर इसकी शुरुआत कैसे हुई।

ऐसे हुई इंटरनेट की शुरुआत-

इंटरनेट कि शुरुआत से पहले समझ लेते है कि इंटरनेट का मतलब क्या होता है। इंटरनेट (international network of computer) का मतलब दो या दो से अधिक Computer को आपस में कनेक्ट करने को ही इंटरनेट कहते है। मतलब जो दो चीज़ों को जोड़ता हो इसकी शुरुआत 1969 की है जब इंसान से चांद की सतह पर अपने कदम रखे थे यानि की आज से लगभग 50 साल पहले दुनिया इंटरनेट का उपयोग करना सीखी। उस दौरान पूरे मिशन को सफल बनाने के लिए चार कंप्यूटरों को आपस में जोड़कर एक नेटवर्क तैयार किया गया था और इस काम को करने के लिए अमेरिका के रक्षा कार्यालय ने Advance Research Project Agency यानी ARPA को नियुक्त किया था। लेकिन बाद में इसकी महत्वता को समझते हुए इसे आम लोगों के लिए खोल दिया। जिसके बाद इंटरनेट आज दुनिया की ज़रूरत बन गया है।

इन्होंने किया इंटरनेट का अविष्कार-

अमेरिका ने इंटरनेट की शुरुआत अपनी खुफिया जानकारी आपस में एक दूसरे के साथ साझा करने के लिए करती थी जिससे अमेरिकी सेनिको तक जानकारी पहुँच सके। अमरीकी सेना विभाग ने Massachusetts Institute of Technology के साथ मिलकर Advance Research Project Agency Network नाम से इसका निर्माण शुरू किया था। . Robert E Kahn और Vint Cerf ने Internet Protocol Suite (TCP/IP) को डेवलप किया, जो कि ARPANET में यही डेटा और फाइल ट्रांसफर के लिए यह जरूरी स्‍टैंडर्ड इंटरनेट प्रोटोकॉल बन गया। उसके बाद इसमें कई और तरह की रिसर्च हुई।

आखिर कैसे काम करता है इंटरनेट?

आप ये तो समझ ही गए होंगे कि इंटरनेट का काम दो या दो से अधिक कंप्यूटरों को आपस में जोड़ना का होता है। ऐसा कहा जा सकता है जब दो या दो से अधिक computers आपस में जुड़ते हैं तो उसे एक network कहते हैं। इसी तरह प्राइवेट, पब्लिक, स्कूल, कॉलेज, बिज़नस, गवर्नमेंट जैसे कई सारे छोटे-बड़े networks होते हैं और इन networks को internet आपस में जोड़ने का काम करता है इसलिए इन्टरनेट को network of networks भी कहा जाता है। इंटरनेट के लिए एक सर्वर रूम होता है जिसमें सभी सूचनाएं स्टोर रहती हैं, यह सर्वर 24 घंटे काम करते हैं।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password