Weather Update : 14 जिलों में आज भी जारी रहेगी शीत लहर, मौसम विभाग का अनुमान सबसे ठंडा रहा नौगांव

भोपाल। उत्तर से आ रही बर्फीली Weather Update हवाओं के चलते प्रदेश का ज्यादातर हिस्सा शीतलहर की चपेट में है। ग्वालियर में न्यूनतम पारा 2.2 डिग्री के आसपास रहा। वही छतरपुर जिले के नौगांव में पारा सबसे कम 1.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। इंदौर, भोपाल और जबलपुर में रात के तापमान में मामूली बढ़त आई है। खजुराहो, नौगांव, सिवनी, उमरिया और ग्वालियर में कड़ाके की ठंड पड़ रही है। यहां मौसम विभाग ने अति शीतलहर घोषित किया है। मध्यप्रदेश में कड़ाके की ठंड से अभी लोगों को निजात नहीं मिलेगी राजधानी समेत प्रदेश के 14 जिलों में शीत लहर जारी रहेगी। खजुराहो, नौगांव, सिवनी, उमरिया और ग्वालियर में  मौसम विभाग ने अति शीतलहर बताया।

इन जिलों में चली शीत लहर —
भोपाल समेत 9 जिले सुबह तक शीतलहर की चपेट में रहे। भोपाल के अलावा रीवा, मंडला, सागर, सतना, दतिया, खंडवा, खरगोन और रतलाम में भी ठंडी हवाएं चल रही हैं। कुछ इलाकों को छोड़ दिया जाए तो न्यूनतम तापमान 6 डिग्री के नीचे बना हुआ है।

अस्पतालों में बढ़े मरीज
प्राप्त जानकारी के अनुसार ठंडी बढ़ने के साथ—साथ अस्पतालों में मरीजों की संख्या में भी इजाफा होने लगा है। कड़ाके की सर्दी से अस्पतालों में मरीजों की संख्या बढ़ने लगी है। एक सप्ताह में सबसे अधिक हार्ट अटैक के मामले बढ़े। इसी के साथ ब्रेन हेमरेज के मरीजों में भी बढ़ोतरी हुई है।

सबसे ठंडा रहा नौगांव —
प्रदेश में बीते दिन के मौसम की बात करें तो यहां सबसे कम तापमान नौगांव में दर्ज किया गया। जो 1.3 डिग्री के साथ सबसे ठंडा रहा। भोपाल में रात का तापमान 5.8 डिग्री दर्ज किया गया। 24 घंटे में इसमें 2.4 डिग्री का इजाफा हुआ इसके बावजूद यह सामान्य से 5 डिग्री कम रहा। तो वहीं उमरिया में 2.1, ग्वालियर-2.2, मंडला-3.1 डिग्री रहा पारा। मौसम विभाग के अनुसार भोपाल से 14 जिलों में आज भी शीत लहर जारी रहेगी।

  • नो गाँव – 1.3 डिग्री
  • उमरिया – 2.1
  •  ग्वालियर – 2.2
  •  मंडला – 3.1 डिग्री सबसे ज्यादा ठंड रही!

ठंड से होनी वाली समस्याएं —

  1. शरीर में मेलाटोनिन हार्मोन का स्तर बढ़ जाता है।
  2. इस हार्मोन के कारण ज्यादा नींद आती है।
  3. आंखों में मौजूद ब्लड वेसेल्स में कसाव आ जाता है।
  4. आंखों की रोशनी धुंधली हो जाती है।
  5. हाई ब्लड प्रेशर, ब्रेन स्ट्रोक का खतरा।
  6. पाचन से जुड़ी समस्याएं होने की आशंका।
  7. दमा के मरीजों को सांस लेने में परेशानी।
  8. बुजुर्गों में आर्थराइटिस की समस्या बढ़ जाती है।

ठंड से बचाव के तरीके

  1. शरीर को गरम रखने के लिए गरम कपड़े पहनें।
  2. स्वच्छता का ध्यान रखें।
  3. नियमित रूप से स्किन को मॉस्चराइज करें।
  4. ठंडा पानी पीने से बचें, हल्का गुनगुना पानी पिएं।
  5. दिन में 7 से 8 गलास पानी पिएं।
  6. तेज़ गरम पानी के स्नान से बचें।
  7. पौष्टिक भोजन करें।
  8. हल्दी वाला दूध पीने से मिलेगी राहत।
  9. बाहर जाते समय सिर को ढके रहें।
Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password