Health News: सोने से पहले पिएं गर्म दूध, स्ट्रेस से मिलेगी मुक्ति और आएगी अच्छी नींद, जानें क्या कहती है वैज्ञानिकों की रिसर्च

नई दिल्ली। दूध पीने के फायदे किसी से छिपे नहीं है। विज्ञान से लेकर आयुर्वेद तक सभी तरह के स्वास्थ्य विशेषज्ञ सोने से पहले एक गिलास गर्म दूध पीने को अच्छा मानते हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि सोने से पहले एक गिलास गर्म दूध न केवल आपको अच्छी नींद दिला सकता है, बल्कि स्ट्रेस से भी मुक्ति दिलाने में मदद करता है। अमेरिकन कैमिकल सोसाइटी जर्नल ऑफ एग्रीकल्चर एंड फूड कैमिस्ट्री की रिसर्च में खुलासा हुआ है कि गर्म दूध में केसिन ट्राप्टिक हाइड्रोलिसेट (casein tryptic hydrolysate CTH) पाया जाता है। यह अच्छी नींद लेने में मदद करता है। वैज्ञानिकों का कहना है कि यह टर्म भले ही लोगों को नई लगे, लेकिन यह अच्छी नींद में काफी मददगार साबित होता है।

कोई साइड इफेक्ट नहीं
अमेरिका के डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन डिपार्टमेंट की मानें तो वयस्क लोगों को ठीक से नींद नहीं लेते हैं। इंसोमेनिया के शिकार मरीजों को अक्सर benzodiazepines और zolpidem लेने की सलाह दी जाती है। वहीं इन दवाओं से साइड इफेक्ट होने के भी चांसेस बने रहते हैं। साथ ही लोग इसके आदी भी हो जाते हैं। दिमाग में इस तरह के केमिकल एक आदत बन जाते हैं। वहीं दूध दिमाग के गाबा रियेक्टर को गहरा असर डालता है। इसके साथ ही दूध का प्रोटीन भी दिमाग को शांत रखने में काफी मददगार साबित होता है।

तनाव और चिंता को हावी नहीं होने देता दूध
वैज्ञानिकों ने पाया है कि दूध में मौजूद पेडिस्टर्स दिमाग पर तनाव और चिंता हावी नहीं होने देते। दूध में मिलने वाले प्रोटीन भी काफी फायदेमंद साबित होते हैं। उदाहरण के लिए गाय के दूध में केसिन नाम का प्रोटीन पाया जाता है। इसके साथ ही टिप्सन एंजाइम की मात्रा भी इसमें मिलती है। इससे नींद तो अच्छी होती ही है और दिमाग भी तनाव और चिंता से मुक्त होकर शांत रहता है। गाय के दूध में मिलने वाले इन एंजाइम्स और प्रोटीन्स को नींद बढ़ाने वाले पेप्टाइड्स (sleep-enhancing peptides known as CTH) भी कहा जाता है।

पाचन क्रिया में भी करेगा सहायता
हाल ही में की गई रिसर्च में यह भी सामने आया है कि सोने से पहलेह गर्म दूध पीने से न केवल नींद अच्छी होगी बल्कि पाचन क्रिया भी मजबूत रहती है। रिसर्च में सामने आया है कि दूध में बायोएक्टिव पेप्टाइड्स पाए जाते हैं। ये पेप्टाइड्स पाचन क्रिया में मदद करते हैं और गैस्टिक एक्टिविटीज को कम करते हैं। दूध में ट्रीप्टोफेन और मेलाटोनिन भी प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं। जो पाचन क्रिया के साथ ब्लड फ्लो को भी बढ़ाने में मदद करते हैं। इससे सोते समय दिमाग में पर्याप्त मात्रा में ब्लड फ्लो होता है। इस कारण दिमाग की नर्वस शांत होती हैं औक अच्छी नींद आती है और तनाव से भी छुटकारा मिलता है।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password