विदिशा: कुदरत का करिश्मा ! पंप उगल रहा उबलता पानी..40 डिग्री के करीब तापमान

विदिशा। विदिशा शहर के पास ढोलखेड़ी गॉव में एक किसान धनराज दुबे के घर का जेटपम्प गर्म पानी उगल रहा है। इस पम्प की खासियत यह है कि यह बाहरी तापमान के उलट तापमान का पानी बाहर निकालता है । पिछली सर्दियों के मौसम में अचानक ढोलखेड़ी गॉव के किसान धनराज दुबे का जेटपम्प से अचानक गर्म पानी निकलने लगा तो उन्हें लगा कोई मोटर बगैरह की खराब होगी उन्होंने मोटर निकलवा कर जांच की तो सब सही था। फिर गर्मी में अचानक ठंडा पानी निकलने लगा । अभी सावन के पहले सोमवार से अचानक फिर गर्म पानी निकलने लगा । पानी इतना गर्म होता है कि कोई सीधे नहा नहीं सकता या पानी मे सीधे हाथ नहीं डाल सकते। पानी का तापमान मापा जाता है तो 40 डिग्री के करीब तापमान होता है।

पानी सामान्य करने में 5 से 6 घण्टे लगते हैं
इस पानी को सामान्य करने में 5 से 6 घण्टे लग जाते है । धनराज का परिवार इस गर्म पानी से ही कपड़े और बर्तन धोने का काम कर लेते है । परिवार का कहना है कि अगर जेटपम्प का पानी खारा नहीं होता तो इसमें चाय और दाल आसानी से बन जाती । किसान धनराज के अनुसार वह 5 से 6 साल से गांव में ही रहते है । जेटपम्प पुराना है इस पम्प में अचानक ठंड में गर्म पानी निकलने लगा । सोचा कोई कारण होगा तो मोटर बगैरह निकलवा कर जांच कराई तो सब सही निकला लेकिन जैसे जैसे गर्मी आती गई पानी ठंडा होता गया । लेकिन अभी सावन में जैसे ही ठंडा मौसम हुआ तो फिर गर्म पानी आने लगा ।

पानी इतना गर्म होता है कि चाय बना लो
सुबह तो इतनी तेज गर्म पानी होता है कि हाथ भी नहीं लगा सकते है नहाने के लिए ठंडा पानी मिलाना पड़ता है। पानी को ठंडा करने के लिए 200 लीटर की पानी मे भरकर रख लेते है फिर 5 से 6 घंटे बाद उपयोग कर पाते है। दोपहर के समय पानी थोड़ा कम गर्म आने लगता है। धनराज दुबे की धर्मपत्नी सरोज दुबे के अनुसार सावन के पहले सोमवार से ही फिर से गर्म पानी निकलने लगा है पहले ठंड में निकलता था। पानी इतना गर्म होता है कि उसमें चाय बना लो, दाल चावल बना सकते है लेकिन खारे पानी के कारण नहीं बनाते । पानी इतना गर्म होता है कि खूब भाप भी निकलती है, हमने खुद जाकर पानी जांचा तो पानी में से भाप निकल रही थी और पानी गर्म था हालांकि धनराज दुबे का कहना है कि सुबह-सुबह तो इससे बहुत ज्यादा गर्म पानी आता है।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password