Breaking News: भोपाल से पकड़ाए शातिर गैंग के मेंबर, इस शातिर प्लान से करोड़ों की ठगी को दिया अंजाम

भोपाल। लोगों से निजी वाहनों को किराए पर लेकर हड़पने वाली शातिर गैंग का पुलिस ने शुक्रवार को खुलासा किया था। इस गैंग के चार सदस्य पुलिस के हत्थे चढ़ गए थे। अब इस गैंग के दो शातिर बदमाशों को भोपाल क्राइम ब्रांच ने राजधानी से गिरफ्तार किया है। आरोपी मप्र समेत अन्य राज्यों में भी इस तरह की वारदातों को अंजाम दे चुके हैं। बता दें कि बीते दिनों से इंदौर और भोपाल पुलिस आरोपियों की तलाश कर रही थी। बता दें कि इससे पहले इंदौर पुलिस ने एक शातिर गैंग पर कार्रावाई करते हुए बड़ा पर्दाफाश किया है। पुलिस ने इस गैंग को गिरफ्तार किया है।

साथ ही 5 करोड़ कीमत के करीब 44 वाहनों को भी आरोपियों के पास से जब्त किया है। पुलिस ने गिरफ्त में लिए आरोपियों से भी पूछताछ शुरू कर दी है। मामला इंदौर के महू थाना क्षेत्र का है। दरअसल महू पुलिस को बीते दिनों में कई लोगों ने शिकायत दी थी कि देवेंद्र ठाकुर नाम का एक आरोपी चारपहिया वाहन किराए पर ले गया था। कुछ दिनों तक तो आरोपी किराया देता रहा। बाद में आरोपी ने किराया देना बंद कर दिया। इसके बाद आरोपी ने गाड़ी भी देने से मना कर दिया। पुलिस ने मामले पर गंभीरता दिखाते हुए एक टीम तैयार की। इसके बाद पुलिस ने देवेंद्र ठाकुर को योजनाबद्ध तरीके से गिरफ्तार किया है।

ऐसे हुआ गैंग का खुलासा
जब पुलिस ने आरोपी देवेंद्र ठाकुर से मामले की पूछताछ की तो गैंग का खुलासा हुआ। पुलिस ने बताया कि आरोपी देवेंद्र ठाकुर पहले गाड़ी मालिकों को पैसे कमाने का लालच देकर गाड़ी किराए पर लेता है। इसके बाद फर्जी कागज बनाकर गाड़ी बेच देता है। देवेंद्र के साथ तीन आरोपियों श्याम, दीपक और रितेश को भी गिरफ्तार किया है। यह तीनों देवेंद्र ठाकुर की मदद करते थे।

इन चारों आरोपियों के पास से अलग-अलग कंपनी के 44 वाहन जब्त किए गए हैं। इन वाहनों की कीमत करीब 5 करोड़ बताई जा रही है। पुलिस ने इस गैंग का पर्दाफाश कर दिया है। पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है। महू पुलिस ने बताया कि चारों आरोपियों से पूछताछ की जा रही है। आरोपियों के पास से 44 चार पहिए वाहन मिले हैं। पूछताछ के बाद अन्य आरोपियों के बारे में खुलासा होने की आशंका जताई जा रही है।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password