Vastu Tips For Name Plate : नेम प्लेट बनवाने में की ये ग​लतियां, तो बढ़ सकती हैं परेशानियां

Vastu Tips For Name Plate : नेम प्लेट बनवाने में की ये ग​लतियां, तो बढ़ सकती हैं परेशानियां

नई दिल्ली। अगर आप भी मकान बनवाए Vastu Niyam For Name Plate : रहे हैं साथ ही उसके बाहर लगने vastu shashtra वाली नेम प्लेट को लेकर तैयारी vastu tips कर रहे हैं या फिर name plante vastu tips आपने नेम प्लेट बनवा vastu ke anusar kis rang ki name plate lagani chahiye ली है तो आपको बता दें वास्तु में नेम प्लेट को लेकर भी कुछ नियम बताए गए हैं। जिसके अनुसार अगर आप अपने नाम की तख्ती नहीं बनवाते हैं तो ये आपको लाभ दिलाने की बजाय आपकी बर्बादी का कारण भी बन सकती है। साथ ही आपके जीवन में परेशानियों का अंबार लग सकता है। तो चलिए ज्योतिषाचार्य अनिल पांडे से जानते हैं वास्तु में नंबर प्लेट बनाने के क्या नियम बताए गए हैं।

क्या होगा अगर वास्तु के अनुसार नहीं बनवाई नेम प्लेट तो —
आपको बता दें वास्तु में नेम प्लेट के कुछ नियम बताए गए हैं। नेम प्लेट एक ऐसी चीज है जो घर और बाहर दोनों प्रकार के व्यक्तियों पर असर डालती है। अगर आप भी
Vastu Niyam For Name Plate : आपके घर के बाहर लगी नेम प्लेट सिर्फ आपकी पहचान ही नहीं करवाती, ये आपकी बर्बादी का कारण बन सकती है. वास्तु एक्सपर्ट आरती दहिया का कहना है कि यह बात सच है कि घर के बाहर लगी नेम प्लेट आपके बारे में जानकारी देती है कि आपका नाम और व्यवसाय क्या है, पर शायद लोग नहीं जानते कि बाहर लगी नेम प्लेट का असर घर के अंदर रह रहे लोगों पर भी पड़ता है.यदि आपके घर के बाहर गलत तरीके से नेम प्लेट लगा हुआ है तो वास्तु दोष होता है। इसलिए घर के बाहर लगी नेम प्लेट को लेकर कुछ बातों का ध्यान रखना बहुत जरूरी होता है ताकि घर में यश, कीर्ति और सुख-समृद्धि का आगमन हो।

नंबर प्लेट बनाने के क्या नियम –

  • इस बात का ध्यान रखें कि नेम प्लेट पर नाम दो लाइन में लिखा हो।
  • नेम प्लेट हमेशा एंट्री गेट के दाईं ओर लगाएं।
  • नेम प्लेट पर लिखे जानें वाले अक्षरों की बनावट ऐसी हो जो पढ़ने में साफ हो।
  • नेम प्लेट पर फॉन्ट का साइज न तो ज्यादा बड़ा हो न ही ज्यादा छोटा हो।
  • नेम प्लेट पर इस तरह से होनी चाहिए जिसे हर उम्र का व्यक्ति आसानी से पढ़ सके। जिसे एक निश्चित दूरी पर रहने पर भी बड़ी आसानी से पढ़ा जा सके।
  • नेम प्लेट ऐसी हो जिसमें फोन्ट बहुत ज्यादा भरे और सटे न हों।
  • नेम प्लेट हमेशा दीवार या दरवाजे की बीच में लगी हो।
  • वास्तु के अनुसार, वृत्ताकार, त्रिकोण और विषम आकृति की नेम प्लेट घर के लिए सबसे अच्छी होती है।
  • वास्तु के अनुसार लगी नेम प्लेट घर के भीतर वास्तु दोष को आने से रोकती है।
  • यदि नेम प्लेट वास्तु के अनुसार होगी तो इससे घर में संकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है। जिसके अनुसार गृह क्लेश और बीमारियां दूर होती हैं।
  • नेम प्लेट कहीं से टूटा-फूटा नहीं होना चाहिए और ना ही इसमें छेद हो। वरना इससे घर में नकारात्मकता आती है।
  • नेम प्लेट कभी गंदी न हों। इसे को हमेशा साफ-सुथरा रखना चाहिए। इस पर मिट्टी या जाले आदि न लगने दें।
  • नेम प्लेट का रंग घर के मुखिया की राशि के आधार पर ही चुनें।
  • नेम प्लेट पर व्हाइट, ऑफ व्हाइट, हल्का पीला, केसरिया आदि जैसे मिलते-जुलते रंगों का प्रयोग करें।
  • भूलकर भी ब्लू, ब्लैक, ग्रे या फिर इसी तरह से मिलते-जुलते गहरे रंगों का प्रयोग नेम प्लेट पर ना करें।
  • नेम प्लेट पर आप एक ओर गणपति या फिर स्वास्तिक का चिन्ह भी बनवा सकते हैं।
  • रोशनी के लिए आप नेम प्लेट पर एक छोटा सा बल्ब भी लगवाएं।
  • भूलकर भी प्लास्टिक से बनी नेम प्लेट ना लगाएं, इससे घर पर नकारात्मकता आती है।
  • हमेशा तांबा, स्टील या पीतल जैसी धातु से बनी नेम प्लेट लगाएं।
  • आप लकड़ी और पत्थर के बने नेम प्लेट का भी प्रयोग कर सकते हैं।
Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password