vaccination: वैक्सीन के लिए कच्चा माल देगा अमेरिका, आखिर ऐसा क्या हुआ कि आधी रात को #Ajit Doval ट्रेंड करने लगे -

vaccination: वैक्सीन के लिए कच्चा माल देगा अमेरिका, आखिर ऐसा क्या हुआ कि आधी रात को #Ajit Doval ट्रेंड करने लगे

vaccination

नई दिल्ली। भारत में कोरोना की दूसरी लहर ने कोहराम मचाया हुआ है। हर दिन स्थिति बद से बदतर होती जा रही है। डॉक्टरों की माने तो इस लड़ाई को हम तभी जीत सकते हैं, जब देश के तमाम नागरिकों को टीका लगाया जाए। लेकिन इस अभियान में अब तक अमेरिका बड़ा रोड़ा बना हुआ था। क्योंकि वैक्सीन बनाने में जिस कच्चे माल की जरूरत पड़ती है। उसपर अमेरिका ने निर्यात पर रोक लगा दी थी। लेकिन अब अमेरिका ने नरमी बरतते हुए भारत को बड़ी राहत दी है। अमेरिका के इस फैसले के बाद ट्विटर पर भारत के NSA अजित डोभाल (Ajit Doval) ट्रेंड करने लगे। आइए जानते हैं ऐसा क्यों हुआ।

कच्चे माल की सप्लाई करेगा अमेरिका

दरअसल, अमेरिका के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जेक सुलिवन(Jake sullivan) ने बताया कि भारत के NSA अजित डोभाल को बताया गया है कि वो वैक्सीन बनाने में हर उस कच्चे माल की सप्लाई करेगें जिसकी जरूरत पड़ने वाली है। इतना ही नहीं उन्होंने बताया कि फ्रंट लाइन वर्कस को बचाने के लिए अमेरिका की तरफ से तुरंत रैपिड डाइगोनॅस्टिक टेस्ट किट, वैन्टिलेटर और पीपीई किट भी उपलब्ध करवाई जाएंगी। भारत में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए अमेरिका ने सहानुभूति भी व्यक्त की है।

अमेरिका के फैसले के बाद पूरी दुनिया में हो रहा था विरोध

मालूम हो कि पिछले कई महिनों से अमेरिका ने वैक्सीन के कच्चे माल की निर्यात पर रोक लगा दिया था। जिसके बाद पूरी दुनिया में अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन (Joe Biden) का विरोध हो रहा था। भारत की तरफ से सीरम इंस्टीट्यूट (Serum Institute of India) के डायरेक्टर अदार पूनावाला (Adar Poonawalla) ने भी अमेरिका से अपील की थी वे तुरंत इन पाबंदियों को खत्म करे और कोरोना की लड़ाई में सक्रिय भूमिका निभाए। इसके बाद सरकार ने अपने स्तर पर विदेश मंत्री एस. जयशंकर और NSA अजित डोभाल को अमेरिका से बात करने के लिए लगाया था।

वैक्सीन निर्माता कंपनी कच्चे माल के लिए अमेरिका पर निर्भर रहते हैं

गौरतलब है कि वैक्सीन बनाते समय बैग, फिल्टर, कैप आदी जैसे कच्चे माल की जरूरत पड़ती है। जिसका सबसे ज्यादा निर्यात अमेरिका करता है। ऐसे में जितने भी वैक्सीन निर्माता कंपनी हैं वे कच्चे माल के लिए अमेरिका पर निर्भर रहते हैं। जब अमेरिका ने कच्चे माल पर प्रतिबंध लगाया, तो उसे वैक्सीन के निर्माण में काफी कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा था। लेकिन अब कच्चा माल समय रहते दिया जाएगा तो इससे भारत में टीकाकरण की रफ्तार काफी तेज हो जाएगी।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password