UP Lockdown: लखनऊ, वाराणसी, प्रयागराज, कानपुर और गोरखपुर में 26 तक लॉकडाउन, HC के दिए आदेश -

UP Lockdown: लखनऊ, वाराणसी, प्रयागराज, कानपुर और गोरखपुर में 26 तक लॉकडाउन, HC के दिए आदेश

उत्तर प्रदेश। उत्तर प्रदेश में लगातार बढ़ते कोरोना महामारी के खतरे को देखते हुए इलाहाबाद हाईकोर्ट में बड़ा फैसला लिया है। इलाहाबाद हाईकोर्ट ने उत्तर प्रदेश की योगी सरकार को 26 अप्रैल तक पांच शहरों में लॉकडाउन लगाने का आदेश दिया है। हाईकोर्ट के आदेश के मुताबिक वाराणसी, कानपुर, प्रयागराज, लखनऊ और गोरखपुर में 26 अप्रैल तक लॉकडाउन है। कोर्ट ने इस मामले की निगरानी करने के लिए खुद उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव को जिम्मेदारी दी है। कोर्ट की तरफ से दिया गया यह आदेश आज रात से ही लागू हो जाएगा। चलिए इलाहाबाद हाई कोर्ट के इस फैसले के बारे में आपको बताते हैं और क्या खुला रहेगा और क्या बंद रहेगा यह भी बताते हैं।

उच्च न्यायालय ने स्वतः संज्ञान वाली याचिका पर आज पुनः सुनवाई करते हुए राज्य सरकार को निम्न आदेश का सख्ती से पालन करने हेतु आदेशित किया:-

1. वित्तीय संस्थानों और वित्तीय विभागों, चिकित्सा और स्वास्थ्य सेवाओं, औद्योगिक और वैज्ञानिक प्रतिष्ठानों, नगर निगम के कार्यों और सार्वजनिक परिवहन सहित आवश्यक सेवाओं को छोड़कर सभी प्रतिष्ठान सरकारी या निजी हों, 26 अप्रैल, 2021 तक बंद रहेंगे। न्यायपालिका हालांकि, अपने स्वयं के विवेक पर कार्य करें;

2. सभी शॉपिंग कॉम्प्लेक्स और मॉल 26 अप्रैल, 2021 तक बंद रहेंगे;

3. सभी किराने की दुकानें और अन्य वाणिज्यिक दुकानें मेडिकल दुकानों को छोड़कर, (जहां तीन से अधिक श्रमिक हों) 26 अप्रैल, 2021 तक बंद रहेंगे;

4. सभी होटल, रेस्तरां और यहां तक ​​की ठेले आदि पर खाने के छोटे बिंदु 26 अप्रैल, 2021 तक बंद रहेंगे;

 5. सभी संस्थान जैसे कि अन्य विषयों और गतिविधियों से संबंधित शिक्षण संस्थान और अन्य संस्थाएँ यह सरकारी हों, अर्ध सरकारी या निजी उनके शिक्षकों और प्रशिक्षकों और अन्य कर्मचारियों के लिए 26 अप्रैल, 2021 तक बंद रहेंगे (यह दिशानिर्देश पूरे उत्तर प्रदेश के लिए है

24 घंटों में 28,287 नए कोविड मामले सामने आए

उत्तर प्रदेश में पिछले 24 घंटों में 28,287 नए कोविड मामले सामने आए हैं। प्रदेश में सक्रिय मामलों की संख्या 2,08,000 है. अब तक 6,61,311 लोग रिकवर हो चुके हैं। उत्तर प्रदेश अपर मुख्य सचिव सूचना नवनीत सहगल ने यह जानकारी दी है। उन्होंने बताया कि ”कल प्रदेश में 2,00,751 सैंपल्स की जांच की गई। जिसमें से लगभग 1 लाख सैंपल्स  RT-PCR के हैं।अब तक प्रदेश में 3,84,00,000 से ज्यादा सैंपल्स की जांच हो चुकी है।”

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password