मुख्यमंत्री शिवराज को उमा भारती ने लिखा पत्र, कहा- स्त्रियों के सम्मान में मारा पत्थर

भोपाल। मध्यप्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती लंबे समय से प्रदेश में शराबबंदी को लेकर लामबंद हैं। राजधानी के बरखेड़ा पठानी इलाके में मौजूद शराब दुकान में पत्थरबाजी करने के बाद उमा भारती ने सीएम शिवराज को एक पत्र लिखा है। पत्र के माध्यम से उमा ने मुख्यमंत्री से शराबबंदी अभियान में सरकार का साथ मांगा है।

उन्होंने लिखा है कि ‘जनता पहल कर रही है, तो सरकार को साथ देना चाहिए। कम से कम निषिद्ध एवं वर्जित स्थानों पर शराब की दुकान और आहते शासन को तुरंत बंद कर देने चाहिए।’

पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती का कहना है कि आजाद नगर में मौजूद शराब की दुकान बंद कराने के लिए मैं धरना-प्रदर्शन कर रही थी। प्रदर्शन के बाद लौटसे समय वहां रहने वाली महिलाओं ने मुझे रोते हुए बताया कि महिलाओं का अपने ही घर की छत पर निकलना भी दूभर हो चुका है। शराबी छतों पर आने वाली महिलाओं को लज्जित करते रहते हैं। जिसके बाद मैंने वापस मुड़कर महिलाओं के सम्मान में पूरी ताकत से एक पत्थर शराब की बोतल पर मारा।

उमा भारती ने मुख्यमंत्री के लिए लिखा है कि ‘मैंने डेढ़ साल पहले शराबबंदी के संदर्भ में आपसे चर्चा की थी। आपने सकारात्मक जबाव भी दिया। आपका कहना था कि मैं इस बारे में जागरुकता अभियान चलाऊं। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा ने भी यही कहा।’

बता दें कि भारतीय जनता पार्टी की फायर ब्रांड नेता उमा भारती शराबबंदी को लेकर दो दिन से सक्रिय हैं। गुनगा के बाद वे आजाद नगर भेल स्थित शराब दुकान के सामने धरने पर बैठ गई थीं।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password