Ujjwala Yojana 2021: योगी बोले- उज्‍ज्‍वला योजना का नारी गरिमा को सम्मान देने में महत्वपूर्ण योगदान

उत्तर प्रदेश। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ Ujjwala Yojana 2021 ने मंगलवार को उज्ज्वला-2.0 की शुरुआत के मौके पर कहा कि इस योजना का नारी गरिमा को सम्मान देने में महत्वपूर्ण योगदान है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के द्वितीय चरण की महोबा में डिजिटल माध्यम से शुरुआत की।

इस मौके पर मोदी का स्वागत करते हुये आदित्‍यनाथ ने कहा कि आज प्रधानमंत्री, उज्‍ज्‍वला योजना Ujjwala Yojana 2021 के दूसरे चरण की शुरुआत कर रहे हैं, इसका सचमुच नारी गरिमा को सम्मान देने में महत्वपूर्ण योगदान है।

उन्होंने कहा,‘‘पूरे देश में आठ करोड़ लोगों को निशुल्क रसोई गैस के कनेक्शन और सिलेंडर Ujjwala Yojana 2021 उपलब्ध करवा कर इस योजना ने जहां प्रत्येक नागरिक के जीवन में व्यापक परिवर्तन लाने का कार्य किया। वहीं, इसने पर्यावरण की रक्षा हुई और सबसे महत्‍वपूर्ण नारी की गरिमा, सम्मान व स्‍वास्‍थ्‍य की रक्षा भी हुई।’’

उन्होंने कहा, ‘‘ अकेले उत्तर प्रदेश के डेढ़ करोड़ परिवारों को पहले चरण में इस योजना Ujjwala Yojana 2021 का लाभ प्राप्त हुआ। कोरोना कालखंड में तो प्रधानमंत्री ने छह महीने तक इन सभी लाभार्थियों को निशुल्क रसोई गैस के सिलेंडर भी उपलब्ध कराए। 2014 के पहले रसोई गैस के कनेक्शन और उन्हें सिलेंडर उपलब्ध हो, यह एक दिवास्वप्न जैसा बन गया था। जिनके पास कनेक्शन थे, उन्हें समय पर रसोई गैस के एलपीजी सिलेंडर नहीं उपलब्ध हो पाते थे। जिन लोगों के पास कनेक्शन नहीं थे, वे सोचते कि काश रसोई गैस के सिलेंडर और कनेक्शन मिल जाते। प्रधानमंत्री की दूरदर्शिता के कारण स्थिति में बदलाव संभव हो सका।’’

मुख्यमंत्री ने कहा कि, उत्तर प्रदेश में प्रधानमंत्री के मार्गदर्शन में नारी गरिमा और सुरक्षा के लिए चार वर्ष के दौरान अनेक कदम उठाए गए हैं। ढाई करोड़ से अधिक परिवारों में इज्जत घर (शौचालय) बनवाए गए हैं। सामूहिक विवाह योजना के अंतर्गत डेढ़ लाख से अधिक कन्याओं की शादी कराई गई। बालिका के जन्म से लेकर स्नातक की शिक्षा के लिए कन्या सुमंगला योजना शुरू की गई। अब तक सात लाख से अधिक बालिकाएं, इस योजना Ujjwala Yojana 2021 से लाभान्वित हो चुकी हैं।

प्रदेश में निराश्रित महिला पेंशन धारकों को भी हर माह 500 रुपये की Ujjwala Yojana 2021 पेंशन दी जा रही है। 29 लाख महिलाओं को इस पेंशन का लाभ दिया जा रहा है।’’ उन्होंने कहा कि बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे का लगभग 70 फ़ीसदी कार्य पूरा हो चुका है। नवंबर 2021 तक यह एक्सप्रेस वे भी बनकर तैयार हो जाएगा।

डिफेंस कॉरिडोर में दो महत्वपूर्ण स्थल, एक चित्रकूट है और एक झांसी है। झांसी में 3000 एकड़ का भूमि कोष बना कर वहां पर निवेश की प्रक्रिया को तेज करने का कार्य किया जा रहा है। चित्रकूट में भी प्रदेश सरकार ने लगभग 150 एकड़ का एक भूमि कोष तैयार किया है। वर्षों से जल के लिए अभिशप्त बुंदेलखंड को जल जीवन मिशन में हर घर नल की योजना का काम 40 फीसदी से ज्‍यादा पूरा हो चुका है।

 

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password