Ujjain Mahakal Lok: "महाकाल लोक" में सबकुछ अलौकिक, अविस्मरणीय है- पीएम मोदी

Ujjain Mahakal Lok: “महाकाल लोक” में सबकुछ अलौकिक, अविस्मरणीय है- पीएम मोदी

Share This

उज्जैन। मध्य प्रदेश के उज्जैन में PM नरेंद्र मोदी ने श्री महाकाल लोक के लिए राष्ट्र को समर्पित कर दिया है। श्री महाकाल लोक परियोजना का पहला चरण तीर्थयात्रियों को विश्व स्तरीय आधुनिक सुविधाएं प्रदान करके मंदिर में आने वाले तीर्थयात्रियों के अनुभव को स्मरणीय बनाने में सहायता प्रदान करेगा। लोकार्पण कार्यक्रम के बाद कार्तिक मेला ग्राउंड उज्जैन में प्रधानमंत्री मोदी और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने जनसभा को संबोधन किया।

जरूर पढ़ें- Ujjain Mahakal Lok Live Update: मंत्रोच्चार के साथ “श्री महाकाल लोक” का भव्य लोकार्पण, यहां देखें वीडियो

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संबोधन देते हुए कहा कि उज्जैन की पवित्र भूमि पर यह अविस्मरणीय कार्यक्रम है। यह महाकल की महिमा है कि महाकाल लोक में सबकुछ अलौकिक,अविस्मरणीय है। पीएम मोदी ने कहा कि महाकाल के आशीर्वाद से काल की रेखाएं मिट जाती हैं। पीएम ने कहा कि ज्योतिषीय गणनाओं में उज्जैन न केवल भारत का केंद्र रहा है, बल्कि ये भारत की आत्मा का भी केंद्र रहा है। जब भारत का भौगोलिक स्वरूप आज से अलग रहा होगा तब से ये माना जाता है कि उज्जैन भारत के केंद्र में हैं।

जरूर पढ़ें- Ujjain Mahakal Lok: “श्री महाकाल लोक” लोकार्पण से पहले संतों का सम्मान, भोपाल में कांग्रेस मना रही उत्सव

जरूर पढ़ें- Mahakal Lok: क्या होता है “लोक” का मतलब !

स्वयं भगवान कृष्ण ने भी आकर शिक्षा ग्रहण की 

यहां पीएम मोदी ने कहा कि उज्जैन वो नगर है जो हमारी पवित्र सात पुरियों में से एक गिना जाता है, ये वो नगर है जहां स्वयं भगवान कृष्ण ने भी आकर शिक्षा ग्रहण की थी। उज्जैन ने महाराजा विक्रमादित्य का वो प्रताप देखा है, जिसने भारत के नए स्वर्णकाल की शुरुआत की थी। उज्जैन के क्षण-क्षण में इतिहास सिमटा हुआ है, कण-कण में आध्यात्म समाया हुआ है और कोने-कोने में ईश्वरीय ऊर्जा संचारित हो रही है।

जरूर पढ़ें- CRPF Open Rally 2022: जरूरी खबर ! CRPF की 400 पदों पर भर्ती, यहां जानें आगे की प्रोसेस

सोमनाथ का जिक्र किया

भारत का ये सांस्कृतिक दर्शन एक बार फिर शिखर पर पहुंचकर विश्व के मार्गदर्शन के लिए तैयार हो रहा है। किसी राष्ट्र का सांस्कृतिक वैभव इतना विशाल तभी होता है जब उसकी सफलता का परचम विश्व पटल पर लहरा रहा होता है। सफलता के शिखर तक पहुंचने के लिए ये जरूरी है कि राष्ट्र अपने सांस्कृतिक उत्कर्ष को छुए, अपनी पहचान के साथ गौरव से सर उठाकर खड़ा हो। पीएम ने कहा कि सोमनाथ में विकास के कार्य नए कीर्तिमान स्थापित कर रहे हैं। उत्तराखंड में बाबा केदार के आशीर्वाद से केदारनाथ, बद्रीनाथ तीर्थ क्षेत्र में विकास के नए अध्याय लिखे जा रहे हैं।

जरूर पढ़ें- Cheetah News: पुरस्कार में मिल सकता है कूनो जाने का मौका !

करतारपुर साहिब का भी जिक्र

उन्होंने कहा कि आजादी के अमृतकाल में भारत ने गुलामी की मानसिकता से मुक्ति और अपनी विरासत पर गर्व जैसे पंच प्राण का आहृवान किया है। इसलिए आज अयोध्या में भव्य श्रीराम मंदिर का निर्माण पूरी गति से हो रहा है। काशी में विश्वनाथ धाम भारत की संस्कृति का गौरव बढ़ा रहा है। आजादी के बाद पहली बार चार धाम प्रोजेक्ट के जरिए हमारे चारों धाम ऑल वेदर रोड से जुड़ने जा रहे हैं। आजादी के बाद पहली बार करतारपुर साहिब खुला है। महाकाल के आशीर्वाद से भारत की भव्यता पूरे विश्व के विकास के लिए नई संभावनाओं को जन्म देगी। भारत की दिव्यता पूरे विश्व के लिए शांति के मार्ग प्रशस्त करेगी।

जरूर पढ़ें- MP teacher recruitment : बढ़ गई डॉक्यूमेंट अपलोड करने की तारीख, यहां देखें जानकारी

इससे पहले मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने संबोधन देते हुए कहा कि श्री महाकाल लोक अद्भुत बना है। 2018 में मध्य प्रदेश की कैबिनेट ने इसका टेंडर जारी किया। बीच में 2019-2020 में थोड़ी दिक्कत आई थी, लेकिन 2020 के बाद फिर से काम तेजी से शुरू हुआ और आज पीएम ने श्री महाकाल लोक का लोकार्पण किया है। आज संपूर्ण मध्यप्रदेश में आनंद बरस रहा है। उन्होंने कहा कि भारत का निर्माण पीएम नरेंद्र मोदी कर रहे हैं। एक नरेंद्र विवेकानंद हैं तो दूसरे नरेंद्र मोदी।

कार्यक्रम के बाद पीएम मोदी अपने काफिले के साथ 8.30 के आसपास उज्जैन से निकल गए।

जरूर पढ़ें- interesting fact: घोड़ा बैठता क्यों नहीं, घर में क्यों लगाते हैं सात दौड़ते घोड़ों की तस्वीर

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password