Twitter NEW updates: फेक न्यूज पर होगी ट्विटर की नजर, खास तकनीक से दूर की जाएगी परेशानी

Twitter NEW updates: फेक न्यूज पर होगी ट्विटर की नजर, खास तकनीक से दूर की जाएगी परेशानी

Twitter NEW updates

नई दिल्ली। पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव से पहले ट्विटर (Twitter) ने अपनी कमर कस ली है। फर्जी खबर (fake news) और गलत सूचना से निपटने के लिए ट्विटर ने सोमवार को कई घोषणाएं की। कंपनी ने अपने यूजर के लिए बहुभाषी पहल की घोषणा की है। ताकि चुनाव में जनभागीदारी को और बढ़ाया जा सके।

ट्विटर अब स्वस्थ्य सूचनाएं ही प्रसारित करेगा

ट्विटर ने एक बयान जारी करते हुए कहा कि केरल, असम, तमिलनाडु, पुडुचेरी और पश्चिम बंगाल में होने वाले विधानसभा चुनाव को देखते हुए अब उम्मीदवरों, राजनीतिक दलों, नागरिकों, मीडिया और समाज के बीच केवल स्वस्थ्य सूचनाएं ही प्रसारित की जाएंगी। यानी अब ट्विटर के माध्यम से फर्जी या भ्रामक सूचनाएं कोई प्रसारित नहीं कर पाएगा।

प्रोपेगेंडा के तहत नहीं कर पाएंगे पोस्ट

बतादें कि चुनाव के समय कई पार्टियां प्रोपेगेंडा के तहत गलत जानकारी शेयर करती थी। ताकि उन्हें चुनाव में तत्कालीन फायदा मिले। लेकिन अब ट्विटर के इस नेक कदम के बाद पार्टियां या उम्मीदवार ऐसे पोस्ट शेयर नहीं कर पाएंगे, जिससे की समाज में तनाव की स्थिती पैदा हो।

खास तकनीक का किया जाएगा इस्तेमाल

ट्विटर ने साफतौर पर कहा कि मतदाता तक चुनाव के बारे में सही और विश्वसनीय सूचनाएं मिले इसकी हम पूरी मॉनिटरिंग करेंगे। इतना ही नहीं केंद्रीय निर्वाचन आयोग और राज्य निर्वाचन आयोग से जुड़ी जानकारी खोजने के लिए क्सटमाइज इमोजी का प्रयोग किया जाएगा। साथ ही गलत सूचना से निपटने के लिए प्री-बंक और डी-बंक तकनीक का इस्तेमाल किया जाएगा और यह भी ख्याल रखा जाएगा कि चुनाव में युवाओं की जन-भागीदारी कैसे बढ़े, इसके लिए डेमोक्रेसी अड्डा जैसे पहल को शामिल किया जाएगा। इन पहलों को छह भारतीय भाषाओं- हिंदी, अंग्रेजी, बांग्ला, असमी और मलयालम में डाला जाएगा।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password