Tulsi vivah 2020: इस दिन किया जाएगा तुलसी विवाह, जानें शुभ मुहूर्त और विवाह विधि

Tulsi vivah 2020: तुलसी विवाह कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की एकादशी तिथि के दिन मनाया जाता है। देव प्रबोधनी एकादशी को दिन तुलसी विवाह मनाया जाता है। इस दिन लोग देवउठनी एकादशी के उपलक्ष में व्रत भी रखते हैं। इस दिन तुलसी विवाह का बहुत महत्व माना जाता है। इस बार 26 नवंबर, गुरुवार के दिन तुलसी विवाह कराया जाएगा।

पौराणिक मान्यताओं के अनुसार इस दिन तुलसी जी का विवाह शालिग्राम से कराया जाता है। इस दिन शुभ कामों की शुरुआत कर सकते हैं। मान्यताओं के अनुसार जो लोग कन्या सुख से वंचित होते हैं अगर वो इस दिन भगवान शालिग्राम से तुलसी जी का विवाह करवा दें तो उन्हें कन्यादान के बराबर फल की प्राप्ति होती है। इस दिन से लोग सभी शुभ कार्यों की शुरुआत कर सकते हैं।

तुलसी विवाह का शुभ मुहूर्त

एकादशी तिथि की शुरुआत – 25 नवंबर, सुबह 2:42 बजे से हो जाएगी।
एकादशी तिथि का समापन – 26 नवंबर, सुबह 5:10 बजे तक एकादशी तिथि समाप्त हो जाएगी।
द्वादशी तिथि का प्रारंभ – 26 नवंबर, सुबह 05 बजकर 10 मिनट से द्वादशी तिथि शुरू होगी।
द्वादशी तिथि का समापन – 27 नवंबर, सुबह 07 बजकर 46 मिनट तक द्वादशी समाप्त हो जाएगी।

इस विधि से करें तुलसी विवाह

तुलसी विवाह के दिन सूर्योदय से पहले उठें। स्नान कर साफ कपड़े पहनें। फिर देवी तुलसी को स्नान करवाकर जल अर्पित करें। इसके बाद तुलसी के पौधे के चारों तरफ रेशमी कपड़े और केले के पत्तों से मंडप सजाएं। अब उन पर श्रृंगार का सामान, वस्त्र, चूड़ियां और बिंदी आदि अर्पित करें। तुलसी जी के ही पास भगवान शालिग्राम और गणेश भगवान को रखकर उनकी पूजा-अर्चना करें। भगवान शालिग्राम की मूर्ति सिंहासन समेत हाथों में लेकर खड़े हो जाएं और मां तुलसी के 7 फेरे लें, इसी तरह तुलसी विवाह संपन्न होगा। इसके बाद तुलसी जी की आरती पढ़ें और शादियों में गाए जाने वाले सोहर गीत गाएं

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password