TRAI: अब बल्क मैसेज के लिए कंपनी को कराना होगा रजिस्ट्रेशन, नहीं तो कमर्शियल SMS करने पर लग जाएगी रोक

TRAI: अब बल्क मैसेज के लिए कंपनी को कराना होगा रजिस्ट्रेशन, नहीं तो कमर्शियल SMS करने पर लग जाएगी रोक

TRAI

नई दिल्ली। टेलीकॉम रेगुलेटरी अथॉरिटी ऑफ इंडिया यानी TRAI ने स्पैम मैसेज और ऑनलाइन फ्रॉड पर लगाम लगाने के लिए टेलीकॉम ऑपरेटर्स और Telcos को साफ शब्दों में कह दिया है कि वे 3 दिन के अंदर नए SMS रेगुलेशन को लागू करें और रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया पूरी करें। अगर वे ऐसा नहीं करते हैं तो उन्हें कमर्शियल SMS भेजने से रोक दिया जाएगा। ट्राई के इस फैसले का सीधा असर बैंक, लॉजिस्टिक्स और ई-कॉमर्स कंपनियों पर पड़ने वाली है।

8 मार्च को लागू किया था रेगुलेशन

ट्राई ने साफ कर दिया है कि अगर जो कंपनी 3 दिन बाद रेगुलेशन को फॉलो नहीं करेगी उनका नाम डिफॉल्टर कंपनी के तौर पर कंपनी की वेबसाइट पर पोस्ट कर दिया जाएगा। मालूम हो कि ट्राई ने मंगलवार 8 मार्च को अपने नए SMS रेगुलेशन को लागू करने पर 7 दिन की रोक लगा दी थी। दरअसल, उसके इस नियम के कारण OTP और ट्रांजेक्शन SMS आने में दिक्कत होने लगी थी। इस कारण से ट्राई ने इन कंपनियों को 7 दिनों का और वक्त दिया था।

लेकिन अब ट्राई ने साफ किया है कि चाहे अब कुछ भी हो जाए अगर अब कंपनियां उसके नए फ्रेमवर्क को लागू नहीं करती हैं तो उनके बल्क SMS भेजने से रोक दिया जाएगा।

अब हर SMS को वेरिफाई करके डिलीवर किया जाएगा

गौरतलब है कि दिल्ली हाई कार्ट ने टेलीकॉम रेगुलेटर को आदेश दिया था कि वह तुरंत फर्जी SMS पर रोक लगाए। क्योंकि इन SMS के झांसे में भोली-भाली जनता आ जाती है और उन्हें ठग लिया जाता है। कोर्ट के आदेश के बाद ट्राई ने नया DLT सिस्टम लागू करने का फैसला किया है। अब हर SMS के कॉन्टेंट को वेरिफाई करने के बाद ही डिलीवर किया जाएगा।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password