Toycathon 2021: बच्चों के लिए बनेंगे स्वदेशी खिलौने, सुझाव देने पर जीत सकते हैं 50 लाख का पुरस्कार

Image source: Twitter @All india radio

Toycathon 2021: कोरोना काल के बाद से ही स्वदेशी सामानों को ज्यादा प्राथमिकता दी जा रही है। देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी भी आत्मनिर्भर भारत के लिए ‘वोकल फॉर लोकल’ को को बढ़ावा देने की अपील कर रहे हैं। इसी के तहत केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय एवं विश्विद्यालय अनुदान आयोग की तरफ से टॉयकेथान 2021 ( Toycathon 2021 ) का आयोजन किया जा रहा है। इस आयोजन के तहत प्रतियोगिता में कॉलेज के छात्र-छात्राओं को भी अपने अनोखे व नए आइडिया साझा करने का अवसर दिया जा रहा है।

बता दें की प्रतियोगिता में कॉलेज के छात्र-छात्राओं को अपने अनोखे और नए आइडिया साझा करने का अवसर दिया जा रहा है। खास बात तो यह है कि कॉम्पिटीशन में जिस का सुझाव चुना जाएगा उस विजेता को 50 लाख रुपये तक के पुरस्कार दिए जाएंगे। इस प्रतियोगिता के पीछे स्वदेशी खिलौने को बढ़ावा देना है। इसलिए आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय एवं विश्वविद्यालय अनुदान आयोग की ओर से टायकेथान-2021 का आयोजन किया जा रहा है।

सुझाव देने की आखिरी तारीख 20 जनवरी

छात्र-छात्राओं को अपने सुझावे देने की आखिरी तारीख 20 जनवरी तय की गई है। इसके लिए उन्हें निर्धारित प्रारूप में जानकारी भरकर केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय के वेबपोर्टल में देनी होगी। बता दें की इस प्रतियोगिता में 8वीं से 12वीं तक के छात्रों को हिस्सा लेने का मौका मिलेगा। जिसमें CBSE बोर्ड के छात्रों को पहली बार बोर्ड की तरफ से इस तरह के रचनात्मक प्रयासों का अवसर दिया जा रहा है।

इन विषयों पर दे सकेंगे अपने सुझाव

बोर्ड की तरफ से दी गई थीम पर छात्रों को खिलौने के लिए आइडिया प्रस्तुत करना होगा। टॉपिक्स के मुताबिक- छात्रों को बोर्ड से जारी सर्कुलर के अनुसार भाग लेने के लिए वैदिक गणित, शारीरिक व मानसिक रूप से स्वस्थ कैसे रहें, दिव्यांगजनों के मददगार खिलौने, गणित, विज्ञान समेत अन्य भाषाओं की जानकारी वाले खिलौने, स्वच्छ भारत, पर्यावरण संरक्षण व बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ का संदेश देने वाले खिलौनों के संबंध में अपने आइडिया साझा कर सकते हैं। भारतीय सभ्यता, इतिहास, संस्कृति पर गेम स्पर्धा का उद्देश्य राष्ट्रीय एकता को बढ़ावा देना व सांस्कृतिक विविधता का सम्मान करना है। प्रतिभागियों को अपनी सोच से नए खिलौने व गेम कांसेप्ट तैयार करना होगा।

ऐसे गेम्स बताने होंगे, जो भारतीय सभ्यता, इतिहास, संस्कृति, पौराणिक कथाओं पर आधारित हों। इसमें छात्र, अध्यापक, स्टार्टअप, खिलौने से संबंधित विशेषज्ञ भाग ले सकते हैं। जीतने वाले प्रतिभागियों को अपना कांसेप्ट राष्ट्रीय टाय फेयर में दिखाने का भी मौका मिलेगा। प्रस्तुत विचारों का 21 जनवरी से आठ फरवरी तक मूल्यांकन होगा। शार्टलिस्ट आइडिया की घोषणा 12 फरवरी को होगी।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password