Tokyo Paralympic Team 2020: भारतीय पैरालंपिक पदक विजेताओं का देश लौटने पर भव्य स्वागत, केंद्रीय खेल मंत्री से की मुलाकात..

Tokyo Paralympic Team 2020

नई दिल्ली। स्वर्ण पदक विजेता भाला फेंक एथलीट सुमित अंतिल सहित चार Tokyo Paralympic Team 2020 भारतीय पैरा खिलाड़ी शुक्रवार को स्वदेश लौटे और उनका इतना जोरदार स्वागत हुआ कि उनके समर्थकों और मीडिया में यहां हवाईअड्डे पर उनकी एक झलक लेने के लिये धक्का-मुक्की भी हो गयी।

इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे पर ऐसा अराजक दृश्य देखने को मिला जिसमें खेल प्रेमियों और मीडियाकर्मियों ने इन चार पैरा खिलाड़ियों विशेषकर सुमित को देखने और बात करने के लिये Tokyo Paralympic Team 2020 कोविड-19 प्रोटोकॉल की अवहेलना की।

सुमित के अलावा तीन बार के पैरालंपिक पदक विजेता Tokyo Paralympic Team 2020 भाला फेंक एथलीट देवेंद्र झाझरिया, चक्का फेंक एथलीट योगेश कथूनिया और ऊंची कूद एथलीट शरद कुमार का भी गर्मजोशी से स्वागत किया गया। झाझरिया ने इस बार रजत पदक जीता है। कथूनिया ने भी रजत और शरद ने कांस्य पदक जीता है।

भारतीय खेल प्राधिकरण (साइ) ने ट्वीट में लिखा, ‘‘हमारे चैम्पियन स्वदेश लौट आये हैं और पहुंचने पर बहुत खुश हैं। सुमित, झाझरिया, कथूनिया और शरद के लिये शुभकामनाओं की बारिश हो Tokyo Paralympic Team 2020 रही है।’’ साइ अधिकारियों ने चारों खिलाड़ियों का पहुंचने पर फूल माला पहनाकर और फूलों का गुलदस्ता भेंटकर स्वागत किया।

खिलाड़ियों ने अपने पदकों के साथ हवाईअड्डे के अंदर फोटो भी खिंचवाई और उनके प्रशंसक तिरंगा लहरा रहे थे जिनमें से कुछ ढोल भी बजा रहे थे। हालांकि, इनमें से ज्यादातर मास्क के बिना थे और वे इन चारों को फूल माला पहनाने के लिये एक दूसरे से धक्का-मुक्की कर रहे थे। वहीं हवाईअड्डे से बाहर निकलते ही Tokyo Paralympic Team 2020 मीडियाकर्मी भी उनकी प्रतिक्रिया लेने के लिये जूझ रहे थे।

सुमित (23) ने एफ64 क्लास में Tokyo Paralympic Team 2020 पांच बार अपने ही विश्व रिकॉर्ड को तोड़ते हुए स्वर्ण पदक जीता जबकि दो बार के स्वर्ण पदक विजेता झाझरिया ने एफ46 वर्ग में रजत पदक जीता। कथूनिया ने चक्का फेंक एफ56 क्लास में रजत और शरद ने टी42 ऊंची कूद में कांस्य पदक जीता। भारत ने दो स्वर्ण सहित अभी तक कुल 12 पदक जीत लिये हैं। यह पहली बार है जब पैरालंपिक में देश के खिलाड़ियों ने पदकों में दोहरे अंक को पार किया।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password