CM Shivraj Singh: आज सीएम 11 लाख से ज्यादा लोगों के खाते में डालेंगे 1-1 हजार रुपए, सिंगल क्लिक में ट्रांसफर होगी 112.813 करोड़ की राशि

भोपाल। प्रदेश समेत पूरे देश में कोरोना की दूसरी लहर ने जमकर तबाही मचाई है। कोरोना की इस प्रचंड दौर में सरकार को कोरोना कर्फ्यू लगाना पड़ा था। जिसका सबसे ज्यादा असर रोजाना कमाकर खाने वालों पर पड़ा है। रोज कमाकर खाने वाले श्रमिकों की आमदनी पूरी तरह ठप हो गई है। अब सीएम शिवराज सिंह मंगलवार को निर्माण श्रमिकों के खाते में 1000-1000 रुपए डालेंगे। इसको लेकर एक वर्चुअस कार्यक्रम आयोजित किया गया है। सीएम शिवराज सिंह मंगलवार दोपहर साढ़े तीन बजे इस वर्चुअल कार्यक्रम में एक क्लिक के जरिए 11 लाख 28 हजार 130 पंजीकृत निर्माण श्रमिकों के खाते में 1-1 हजार रुपए ट्रांसफर करेंगे।

सीएम शिवराज के इस क्लिक से कुल 112.813 करोड़ की राशि पंजीकृत निर्माण श्रमिकों के खाते में डाली जाएगी। बता दें कि इससे पहले अप्रैल माह में सीएम शिवराज सिंह ने स्ट्रीट वेंडर के खाते में भी 1000-1000 रुपए की राशि ट्रांसफर की थी। इसके साथ ही सरकार द्वारा गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले लोगों को तीन महीने का मुफ्त राशन भी दिया जा रहा है। बता दें कि प्रदेश में एक महीने से भी ज्यादा समय से कोरोना कर्फ्यू लगा है।

रोजाना कमाकर खाने वालों पर पड़ा गहरा असर…
इस कोरोना कर्फ्यू के कारण रोजाना कमाकर खाने वाले श्रमिकों पर गहरा असर पड़ा है। हालांकि अब कोरोना की रफ्तार काफी कम हो रही है। 1 जून से प्रदेश में कोरोना कर्फ्यू खोलने पर भी विचार किया जा रहा है। इसको लेकर तैयारी भी शुरू हो चुकी है। सोमवार को आए आंकड़ों की बात करें तो केवल 2936 नए केस सामने आए हैं। वहीं अगर अप्रैल की बात करें तो रोजाना 13 हजार से ज्यादा नए केस सामने आ रहे थे। अब प्रदेश में कोरोना के नए मरीजों की संख्या में कमी देखने को मिल रही है। 10 मई को प्रदेश में एक्टिव केसों की संख्या 1.11 लाख के पार पहुंच गई थी।

अब सोमवार को केवल 2936 नए केस सामने आए हैं। वहीं एक्टिव केसों की संख्या करीब 53 हजार है। वर्तमान में कोरोना के इंदौर में 9850 एक्टिव केस हैं। भोपाल में 8677 कोरोना के एक्टिव मरीज हैं। ग्वालियर में एक्टिव मरीजों की संख्या 4066 है। प्रदेश में रोजाना 76 हजार से ज्यादा कोरोना सैंपल लिए जा रहे हैं। बीते 15 दिनों में कोरोना पॉजिटिविटी रेट घटकर 4 प्रतिशत से भी कम हो गया है।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password