ट्रम्प की रैली के लिए हजारों समर्थक वाशिंगटन में जुटे

(ललित के झा)

वाशिंगटन, छह जनवरी (भाषा) अमेरिका के राष्ट्रपति चुनाव में कथित धांधली के खिलाफ वाशिंगटन में आयोजित रैली में शामिल होने के लिए हजारों की संख्या में मौजूदा राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के समर्थक जुटे हैं। इस रैली को ट्रम्प बुधवार को संबोधित करने वाले हैं।

ट्रम्प ने मंगलवार को ट्वीट किया, ‘‘ वाशिंगटन उन लोगों से भर गया है जो नहीं चाहते है कि चरमपंथी वाम डेमोक्रेट चुनाव में जीत का हरण कर सके। हमारे देश ने बहुत सहा अब वे और नहीं सहन करेंगे। हम आपको यहां ओवल ऑफिस (अमेरिकी राष्ट्रपति का कार्यालय) से सुनेंगे (प्यार करेंगे)। एक बार फिर अमेरिका को महान बनाएंगे।’’

ट्रम्प का स्थानीय समयानुसार सुबह 11 बजे रैली को संबोधित करने का कार्यक्रम है। यह रैली ठीक उसी समय होगी जब कांग्रेस के संयुक्त सत्र में राष्ट्रपति निर्वाचन मंडल के मतों की गिनती होगी और तीन नवंबर को हुए राष्ट्रपति चुनाव के नतीजों को सत्यापित किया जाएगा।

रिपब्लिक पार्टी के प्रत्याशी रहे ट्रम्प ने अबतक चुनाव नतीजों को स्वीकार नहीं किया है और अपने गैर प्रमाणित दावे को दोहराया है कि राष्ट्रपति चुनाव में धांधली की गई है। उन्होंने अमेरिकी अदालतों में चुनाव को लेकर करीब एक दर्जन वाद दाखिल किए लेकिन असफल रहे।

वहीं, दूसरी ओर डेमोक्रेटिक पार्टी के प्रत्याशी जो बाइडन जो चुनाव में जीते हैं 20 जनवरी को देश के 46वें राष्ट्रपति के तौर पर शपथ लेने की तैयारी कर रहे हैं।

हजारों की संख्या में ट्रम्प समर्थक वाशिंगटन के पुराने इलाके में जमा हैं, उनके हाथों में पोस्टर-बैनर है जिनपर लिखा है ‘ चोरी बंद करो’ और ‘ट्रम्प मेरे राष्ट्रपति हैं।’’

अमेरिकी मीडिया ने रिपब्लिकन एवं डेमोक्रेटिक समर्थकों के बीच हिंसक झड़प की आशंका जताई है।

वाशिंगटन पोस्ट ने अपनी खबर में लिखा, ‘‘ कुछ अधिकारियों को आशंका है कि अगर विरोध, हिंसक संघर्ष में तब्दील होता है तो ट्रम्प कानून व्यवस्था को बनाए रखने और अपने कथित 7.4 करोड़ समर्थकों की रक्षा करने के लिए फसाद विरोधी अधिनियम लागू कर सकते हैं।’’

व्हाइट हाउस ने मंगलवार देर रात बयान जारी कर कहा कि एंटीफा (वामपंथी) कार्यकर्ता नृशंसता से कानून का पालन करने वाले दोस्तों, पड़ोसियों, कारोबारियों पर हमला कर रहे हैं और ऐतिहासिक चिह्नों को नष्ट कर रहे हैं जिन्हें समुदायों ने दशकों में बनाया है।

व्हाइट हाउस ने कहा, ‘‘अमेरिका में हिंसा एवं अराजकता का कोई स्थान नहीं है और इसे घरेलू आतंकवाद ही कहा जा सकता है।’’

बयान में कहा गया, ‘‘आज राष्ट्रपति डोनाल्ड जे ट्रम्प ने आशयपत्र पर हस्ताक्षर किए हैं जो सुनिश्चित करेगा कि संघीय अधिकारी वामपंथी (एंटीफा) कार्यकर्ताओं की गतिविधियों का आकलन संघीय कानूनों संदर्भ में करे जो आतंकवादी संगठनों के साथ लोगों को जुड़ने से रोकता है और आपराधिक गतिविधियों की मंशा पर रोकथाम लगाता है।’’

भाषा धीरज उमा

उमा

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password