वो पक्षी जो कभी जमीन पर पैर नहीं रखता, उनकी प्यास भी पेड़ों से ही बुझती है

hariyal bird

नई दिल्ली। दुनिया भर में कई ऐसे जीव हैं, जो अपनी खास पहचान के लिए जाने जाते हैं। इसी कड़ी में आज हम आपको एक ऐसे पक्षी के बारे में बताएंगे जिसके बारे में कहा जाता है कि उसने अपने पूरे जीवन में कभी भी जमीन पर पैर नहीं रखा है। यह सुनकर आपको थोड़ा अजीब लग सकता है, लेकिन यह बिल्कुल सच है। खास बात यह है कि इस पक्षी को आप भारत में भी देख सकते हैं।

ये पेड़ों पर ही रहना पसंद करते हैं

महाराष्ट्र राज्य का राजकीय पक्षी ‘हरियल’ एक ऐसा पक्षी है, जो अपना पैर कभी भी धरती पर नहीं रखता है। इसे ऊंचे-ऊंचे पेड़ वाले जंगल काफी पसंद हैं। यह अक्सर अपना घोंसला पीपल और बरगद के पेड़ पर बनाते हैं। इस पक्षी की एक और खास बात यह है कि ये हमेशा झुंड में ही पाये जाते हैं। हरियाल पक्षी के बारे में कहा जाता है कि यह अपने पूरे जीवन में कभी भी जमीन पर पैर नहीं रखता है, क्योंकि ये पक्षी वृक्षवासी होते हैं और अक्सर पेड़ों पर ही रहना पसंद करते हैं।

वैज्ञानिक नाम

पीले पैर और कबूतर की तरह दिखने वाले हरियल का आकार 29 से 33 सेमी के बीच होता है। पूंछ की लंबाई 8 से 10 सेमी के बीच होती है। हरियल का वजन 225 से 260 ग्राम के बीच होता है। पक्षी की गर्दन सुनहरे पीले रंग का होता है। वे सोशल बर्ड कहलाते हैं और झुंड में रहना पसंद करते हैं। इनके प्रजनन का मौसम मार्च से जून के बीच होता है। इसका वैज्ञानिक नाम Treron Phoenicoptera है।

पानी की आवश्यकता भी पेड़ों से ही करते हैं पूरी

हरियल का मुख्य आहार पेड़ों के पत्ते, फल आदि हैं, इसके अतिरिक्त फूलों की कलियाँ, छोटे पौधे के अंकुर, बीज, अनाज के दाने भी इसके आहार में शामिल है। ये पीपल से लेकर बड़, गूलर, अंजीर के पेड़ों के पत्ते खाता है। बेर, चिरौंजी जामुन के फल इसे बहुत पसंद होते हैं। इसकी पानी की आवश्यकता पेड़ों के फल और पत्तियों पर जमी ओंस से पूरी हो जाती हैं। इसकी आहार संबंधी समस्त आवश्यकतायें पेड़ों पर ही पूरी हो जाती हैं, स्वभाव से ये शर्मीला होता है और इंसान को देखते ही चुप्पी साध लेता है। अपने घोंसले भी ये ऊंचे-ऊंचे पेड़ों की शाखाओं पर बनाते हैं।

भारत के अलावा इन देशों में भी पाया जाता है

हरियल पक्षी मुख्यतः भारतीय उपमहाद्वीप में पाया जाने वाला पक्षी है। यह पक्षी भारत, श्रीलंका, पाकिस्तान, बर्मा, नेपाल, बांग्लादेश के अतिरिक्त कंबोडिया, चीन में भी पाया जाता है। भारत में यह उत्तरी-पश्चिम रेगिस्तानी क्षेत्र को छोड़कर संपूर्ण भारत में पाए जाते हैं। भारत में हिमालय से लेकर कन्या कुमारी तक और राजस्थान से लेकर पूर्व में असम तक पाए जाते हैं। हरियल पक्षी महाराष्ट्र का राजकीय पक्षी है। किंतु यह उत्तर प्रदेश में बहुतायत में पाया जाता है।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password