Corona Update: 24 घंटे में मिले इस साल के सबसे ज्यादा मरीज, इन तीन शहरों में बेकाबू हुआ कोरोना, ढाई लाख से अधिक पहुंची मरीजों की संख्या

भोपाल। प्रदेश में कोरोना का कहर लगातार अपना दामन पसार रहा है। रोजाना प्रदेशभर से सैकड़ों नए संक्रमित मरीज सामने आ रहे हैं। शुक्रवार को इस साल के सभी रिकॉर्ड टूट गए हैं। इस दिन  सबसे ज्यादा संक्रमित मरीज सामने आए हैं। इनमें से तीन शहरों में कोरोना का कहर लगातार बढ़ता जा रहा है। शुक्रवार को प्रदेशभर से 1140 संक्रमित मरीज सामने आए हैं। यह इस साल एक दिन में मिलने वाले सबसे ज्यादा मरीजों की संख्या है। मार्च के महीने में कोरोना एक बार फिर से बेकाबू होता दिख रहा है। कोरोना का सबसे ज्यादा कहर इंदौर, भोपाल और जबलपुर में देखने को मिल रहा है। कोरोना के बिगड़ते हालात को देखते हुए सीएम शिवराज सिंह ने इन तीन शहरों में रविवार को टोटल लॉकडाउन लगाने के निर्देश भी दिए हैं।

गुरुवार को भी मिले थे 917 मरीज…

इससे पहले गुरुवार को प्रदेशभर से 917 मरीज सामने आए थे। शुक्रवार शाम को सीएम शिवराज सिंह ने आपातकाल बैठक बुलाई थी। इस बैठक में तीन शहरों में टोटल लॉकडाउन के साथ कोरोना नियमों का सख्ती से पालन करने के निर्देश दिए हैं। इस बैठक में मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैस और डीजीपी विवेक जौहरी के अलावा स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव मोहम्मद सुलेमान और गृह विभाग के अपर मुख्य सचिव \डॉ. राजेश राजौरा भी मौजूद रहे। इस बैठक में फैसला लिया गया है कि 21 मार्च (रविवार) को तीन शहरों में टोटल लॉकडाउन लगा दिया गया है। प्रदेश के भोपाल, इंदौर और जबलपुर में लॉकडाउन लगाने का फैसला लिया गया है।

हालांकि यह लॉकडाउन केवल रविवार को रहेगा। वहीं इसमें यह फैसला लिया गया है कि तीनों शहरों में 31 मार्च तक स्कूल और कॉलेज पूरी तरह से बंद रखे जाएंगे। बता दें कि प्रदेश में पिछले 24 घंटे में 1140 नए रिकॉर्ड संक्रमित मरीज मिले हैं। मरीजों की संख्या में विस्फोट के बाद सरकार और प्रशासन पूरी तरह हरकत में आ गया है। कोरोना से सख्ती से निपटने के लिए शुक्रवार शाम 7 बजे आपातकाल बैठक बुलाई थी। सीएम शिवराज सिंह बंगाल दौरे से लौटकर एयरपोर्ट से ही सीधे मीटिंग में पहुंचे थे।

गुरुवार को भी की थी कॉन्फ्रेंस…
बता दें कि इससे पहले गुरुवार को भी सीएम शिवराज सिंह ने सभी कलेक्टरों व सीएमएचओ के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए कोरोना के हालात पर चर्चा की थी। इस बैठक में महाराष्ट्र से आने वाली बसों पर रोक लगा दी थी। दरअसल प्रदेश के बड़े शहरों में कोरोना के मरीजों की संख्या में अचानक विस्फोट देखने को मिला है। इंदौर में पिछले 24 घंटों में 300 से ज्यादा मरीज संक्रमित हुए थे। गौरतलब है दो महीने 26 दिन बाद कोरोना मरीजों की संख्या में एक साथ इतनी बढ़ोत्तरी देखने को मिली है। राजधानी में भी अचानक कोरोना मरीजों की संख्या में विस्फोट देखने को मिला है। राजधानी में 3 महीने 7 दिन बाद एक दिन में 200 से ज्यादा मरीज सामने आए हैं। वहीं कोरोना टेस्ट की संख्या भी अचानक बढ़ी है। पहले दो दिनों में 18 हजार कोरोना जांच हो रही थी। वहीं अब दो दिनों में 20 हजार से भी ज्यादा कोरोना जांच की जा रही हैं।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password