आज Rukmini Ashami 2024 पर लव मैरिज के लिए करें इस मंत्र का जाप

Rukmini Ashami 2024: रुक्मिणी अष्टमी आज, लव मैरिज के लिए करें इस खास मंत्र का जाप, पूरी होगी मनोकामना!

Rukmini-Ashtami-2024
Share This

Rukmini Ashami 2024: रुक्मिणी अष्टमी का व्रत आज 4 जनवरी यानि गुरुवार को मनाया जा रहा है। हिन्दू धर्म के अनुसार रुक्मिणी अष्टमी पौष मास के कृष्ण पक्ष की अष्टमी को मनाई जाती है।

इस दिन रुकमणी ने मां लक्ष्मी के रूप में जन्म लिया था। चलिए पंडित अनिल पांडे से जानते हैं कि इस दिन कौन से खास उपाय करने से आप पर मां लक्ष्मी की कृपा हो सकती है।

माँ लक्ष्मी के  रूप में लिया था जन्म 

रुक्मिणी अष्टमी पौष मास के कृष्ण पक्ष की अष्टमी को मनाई जाती है। ऐसा माना जाता है कि रुक्मिणी का जन्म पौष मास की कृष्ण पक्ष की अष्टमी को हुआ था। भगवान विष्णु ने कृष्ण के रूप में जब जन्म लिया था। तब लक्ष्मी जी ने रुक्मिणी और राधा जी के रूप में जन्म लिया था। रुक्मिणी जी के रूप में लक्ष्मी जी का जन्म इसी तिथि में हुआ था।

संबंधित खबर

Main Gate Lucky Plant In Vastu : घर के मेन गेट पर लगाए जाने वाले लकी प्लांट, जो दिलाएंगे लक्ष्मी जी का साथ

Vastu Tips: कहीं आप भी तो नहीं करते ये गलती, रूठ सकती हैं मां लक्ष्मी!

रुक्मिणी अष्टमी व्रत से होती है धन धान्य की वृद्धि

ऐसा माना जाता है कि इस दिन यानि रुक्मिणी अष्टमी (Rukmini Ashami 2024) के दिन व्रत रखने से उनके धन-धान्य में वृद्धि होगी।

रुक्मिणी अष्टमी पर महिलाएं करें ये उपाय

रुक्मिणी अष्टमी पर महिलाएं प्रातः काल ब्रह्म मुहूर्त में उठकर स्नान करके भगवान सत्यनारायण, पीपल के वृक्ष और तुलसी के पौधे को जल अर्पण करना चाहिए।

गाय के घी का दीपक उपाय

इस दिन स्त्रियां सायंकाल गाय के घी का दीपक जलती हैं। कपूर से आरती करती हैं और पूजा आरती के बाद फलाहार ग्रहण करती हैं। रात जागरण करती हैं रुक्मिणी जी की कहानी का श्रवण करती हैं। कृष्णा जी के मंत्रों का पाठ कर अगले दिन नवमी को ब्राह्मणों को भोजन करा करके व्रत पूर्ण किया जाना चाहिए। उसके बाद स्वयं भोजन करना चाहिए।

जीवन के सभी सुख होते हैं प्राप्त

रुक्मिणी अष्टमी (Rukmini Ashami 2024) के दिन भगवान श्री कृष्ण के साथ देवी रुक्मणी की पूजा करने से जीवन के सभी सुख प्राप्त होते हैं।

रुक्मिणी अष्टमी मंत्र (Rukmini Ashami 2024 Mantra) –

1. धन प्राप्ति का मंत्र- गोवल्लभाय स्वाहा।

2. गृह क्लेश दूर करने का मंत्र- कृष्णाय वासुदेवाय हरये परमात्मने। प्रणतक्लेशनाशाय गोविन्दाय नमो नम:॥

3. लव मै‍रिज- क्लीं कृष्णाय गोविंदाय गोपीजनवल्लभाय स्वाहा।’

4. धन वापस दिलाने वाला मंत्र- कृं कृष्णाय नमः।

5. वाणी में मधुरता लाने वाला मंत्र- ऐं क्लीं कृष्णाय ह्रीं गोविंदाय श्रीं गोपीजनवल्लभाय स्वाहा ह्र्सो।

6. विद्या प्राप्ति मंत्र- ॐ कृष्ण कृष्ण महाकृष्ण सर्वज्ञ त्वं प्रसीद मे। रमारमण विद्येश विद्यामाशु प्रयच्छ मे॥

7. द्वापर युग में गोपियों ने किया था इस मंत्र का जाप- कात्यायनी महामाये महायोगिन्यधीश्वरी। नन्दगोपसुतं देवि पतिं मे कुरू ते नम:।।

8. इच्छा पूर्ति मंत्र- ‘गोकुल नाथाय नमः।

9. समस्त बाधा दूर करने वाला मंत्र- ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं श्रीकृष्णाय गोविंदाय गोपीजन वल्लभाय श्रीं श्रीं श्री’।

10. स्थिर लक्ष्मी प्राप्ति का मंत्र- लीलादंड गोपीजनसंसक्तदोर्दण्ड बालरूप मेघश्याम भगवन विष्णो स्वाहा।

यह भी पढ़ें:

Hit and Run Law: प्रदेशभर में जारी ट्रक ड्राइवर्स की हड़ताल खत्म, आज से फिर सड़कों पर दौड़ेंगी बसें

MP Cabinet: विभाग बंटवारे के बाद मोहन कैबिनेट की आज जबलपुर में पहली बैठक, इन 9 अहम मुद्दों पर की जाएगी चर्चा

03 Jan 2024 Rashifal: आज सिंह राशि वालों के लिए बन रहा ये शुभ संयोग, जानें क्या कहती है आपकी राशि

 

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password