इस देश को माना जाता है दुनिया का सबसे छोटा कंट्री, केवल 27 लोग यहां करते हैं निवास

Sealand

नई दिल्ली। जनसंख्या के हिसाब से देखें तो चीन दुनिया का सबसे बड़ा देश है। चीन की जनसंख्या 140 करोड़ से अधिक है। दूसरे नंबर पर भारत की बारी आती है। आखिरी जनसंख्या गणना के हिसाब से भारत में 121 करोड़ लोग रहते हैं।हालांकि अनुमानित आंकड़ा 139 करोड़ है। लेकिन क्या कभी आपने सोचा है कि दुनिया का सबसे छोटा देश कौन सा है? जो लोग प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करते हैं उन्हें इस देश के बारे में अच्छे से पता होगा। लेकिन जो लोग इस देश के बारे में नहीं जानते, आज हम उन्हें इस खास देश के बारे में बताएंगे।

यहां 8 सौ लोग रहते हैं

वैसे तो दुनिया का सबसे छोटा देश वैटिकन सिटी(Vatican City) को माना जाता है। यूरोप में स्थित इस देश की आबादी 8 सौ से कुछ ज्यादा है। इसके क्षेत्रफल की बात करें, तो यह सिर्फ 44 हेक्टेयर में फैला हुआ देश है। हालांकि इतना छोटा होने के बाद भी इसकी गिनती दुनिया के सबसे ताकतवर देशों में होती है। इसकी सबसे बड़ी वजह यह है कि ईसाई धर्मगुरू यानी पोप यहीं रहते हैं और यहां फेमस कैथोलिक चर्च भी मौजूद है।

इस देश को अंतरराष्ट्रीय मान्यता मिली हुई है

मालूम हो कि पहले ये देश इटली के अधीन था। लेकिन साल 1929 में यह इटली से आजाद हो गया। वैटिकन सिटी को अंतरराष्ट्रीय मान्यता भी मिली हुई है। वैटिकन हिल के उपर स्थित होने की वजह से इसे वैटिकन सिटी कहा जाता है। यहां की ऑपिशियल भाषा इटैलियन है, वहीं मुद्रा के रूप में यहां यूरो का इस्तेमाल किया जाता है। यहां सभी किस्म की शक्तियां पोप के पद पर आसीन व्यक्ति के हाथों में होती है। हालांकि, प्रशासन चलाने के लिए Pontifical Commission for Vatican City State नाम की संस्था है. जो हर पांच साल के लिए पोप की नियुक्ति करती है।

वैसे इस देश को माना जाता है सबसे छोटा

वहीं अगर अंतरराष्ट्रीय मान्यता को छोड़ दिया जाए तो सीलैंड (Sealand) को दुनिया का सबसे छोटा देश माना जाता है। सीलैंड को माइक्रो नेशन (Micro Nation) के नाम से भी जाना जाता है। ये देश इंग्लैंड के पास स्थित है। इंग्लैड के सफोल्क समुद्री तट से लगभग 10 किलोमीटर की दूरी पर स्थित सीलैंड खंडहर हो चुके समुद्री किले पर स्थित है। जिसे दूसरे वर्ल्ड वॉर के दौरान ब्रिटेन ने ही बनाया था। हालांकि ब्रिटेन ने बाद में खाली कर दिया।

27 लोग यहां निवास करते हैं

सीलैंड पर कई लोगों का कब्जा रहा है। इस देश का अपना झंडा भी है। सीलैंड का सरफेस एरिया 6 हजार वर्ग फुट तक फैला हुआ है। ये देश इतना छोटा है कि आप इसे गूगल मैप में भी नहीं देख पाएंगे। 2011 के आंकड़ो के अनुसार सीलैंड की जनसंख्या सिर्फ 27 लोगों की है। अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सीलैंड को अभी तक मान्यता नहीं मिलती है। यही कारण है कि अगर आप गूगल पर सर्च करेंगे की दुनिया का सबसे छोटा देश कौन सा है? तो आपको वेटिकल सिटी का नाम दिखाया जाता है।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password