Aanchal Girls Hostel Case: बच्चियों का ब्रेनवाश कर धर्मपरिवर्तन का प्लान  

Aanchal Girls Hostel Case: गरीब परिवार की बच्चियों का ब्रेनवाश कर धर्मपरिवर्तन का था प्लान

Aanchal Girls Hostel Case
Share This

Aanchal Girls Hostel Case: मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री के कड़े निर्देश के बाद आंचल बालिका छात्रावास पर कार्रवाई होगी.

जानकारी के मुताबिक इस आंचल बाल सरंक्षण की फंडिंग जर्मनी से हुई है .

धर्मपरिवर्तन का था प्लान

जिसके तार खोजने में पुलिस जुटी हुई है.बताया जा रहा है कि धर्मपरिवर्तन के टारगेट पर गरीब परिवार की बच्चियां रहती थी.

प्रारंभिक जांच में खुलासा हुआ है कि बच्चियों का ब्रेन वाश कर ईसाई धर्म में परिवर्तन करने का प्लान था.फिलहाल पुलिस बाल गृह के स्टाफ का बयान दर्ज कर रही है.

मुख्यमंत्री मोहन यादव ने दिया आदेश

भोपाल के अवैध बाल संरक्षण गृह (Aanchal Girls Hostel Case) मामले में मुख्यमंत्री मोहन यादव ने निर्देश दिए थे. इस निर्देश के अनुसार पूरे प्रदेश में अब से कोई भी अवैध बाल संरक्षण गृह संचालित नहीं होगा.

अगर अवैध बाल संरक्षण गृह पाये जाने पर संचालकों पर सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए हैं.मुख्यमंत्री ने जिला प्रशासन के अधिकारियों को निर्देशित किया कि वे इसके लिये सतत निरीक्षण भी करते रहें.

संबंधित खबर:

प्रशासन जल्द तोड़ सकता है अवैध आंचल बालिका छात्रावास, बिना परमिशन हुआ है निर्माण

चिल्ड्रन होम संचालक गिरफ्तार

26 बच्चियों के लापता होने के बाद सुर्खियों में आए आंचल चिल्ड्रन होम(Aanchal Girls Hostel Case) के संचालक को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

वहीं पुलिस अरोपी पर दर्ज FIR में धर्मांतरण (Bhopal News) की धाराएं भी बढ़ाई है। साथ ही  बच्चियों के भी बयान लिए गए हैं। जिसमें उन्होंने बताया कि हिंदू देवी-देवताओं की पूजा करने से रोका जाता था। सभी पर ईसाई धर्म अपनाने का दबाव बनाया जाता था।

भोपाल के परवलिया थाना क्षेत्र में गैरकानूनी रूप से बालगृह चलाया जा रहा था. इस बालगृह में लगभग 68 बच्चियां रहने का रिकॉर्ड दर्ज है। लेकिन जब निरीक्षण किया तो बालगृह में मात्र 41 ही बच्चियां थी. 27 बच्चियां जिनका यहाँ कोई रिकॉर्ड नहीं था.

गायब सभी 26  बच्चियां मिली

भोपाल के परवलिया थाना क्षेत्र में गैरकानूनी रूप से चल रहे बालगृह में 26 बच्चियां मिल गई. इन्हें भोपाल और आसपास के क्षेत्र से बरामद किया गया है।

इनमें से 10 बच्चियां अयोध्या नगर क्षेत्र, 13 बच्चियां अयोध्या बस्ती, 2 बच्चियां रूप नगर क्रेशर एरिया और एक बच्ची रायसेन से बरामद की गई है।

इन राज्यों की बालिकाएं मिली

बता दें बालगृह में गुजरात, झारखंड, राजस्थान के अलावा सीहोर, रायसेन, छिंदवाड़ा, बालाघाट और विदिशा की बालिकाएं मिली हैं.

संबंधित खबर:

 Bhopal News: आंचल चिल्ड्रन होम संचालक गिरफ्तार, 26 बच्चियां लापता होने के बाद आया था सुर्खियों में

अध्यक्ष ने लिखा था पत्र

मुख्य सचिव को लिखे पत्र में बाल आयोग अध्यक्ष ने जानकारी दी है कि भोपाल में स्थित आंचल बालगृह (Aanchal Girls Hostel Case) का निरीक्षण किया गया.

इस दौरान बालगृह के अधिकारियों एवं बालगृह में मौजूद बच्चों से बातचीत की गई तो पता चला कि बालगृह न तो पंजीकृत है और न ही मान्यता प्राप्त है.

संलग्न सूची में 68 निवासरत बच्चियां दर्ज थीं, लेकिन निरीक्षण के दौरान 41 बच्चियां ही मिली.

बिना आदेश के रह रहीं थी बच्चियां

अधिकारी ने बताया कि इस बालगृह में सभी बच्चियां बाल कल्याण समिति के आदेश के बिना रह रही हैं।

बालगृह के अधिकारी ने भी बताया कि यहां रहने वाले बच्चों को चाइल्ड इन स्ट्रीट सिचुऐशन से रेस्क्यू नहीं किया गया है. इसके बाद भी बालगृह में इन बच्चों को रखा जा रहा है।

यह बालगृह पूर्व में रेलवे चाइल्ड लाइन संस्था की ओर चलाई जा रही थी. प्रियंक कानूनगो ने बताया कि आयोग के हस्तक्षेप के बाद पुलिस (Aanchal Girls Hostel Case) ने इस मामले में केस दर्ज कर लिया है।

मामले की जांच सात दिन में पूरी कर दस्तावेजों सहित आयोग को उलपब्ध कराई जाएगी।

ये भी पढ़ें:

छत्तीसगढ़ में फिर एक बार बस-ट्रक ड्राइवर अनिश्चितकालीन हड़ताल पर बैठे,सरकार ने हमसे बात नहीं की

Man and Lizard Love: मजदूर और बेजुबान छिपकली का अनूठा प्यार, जानकर आप भी कहेंगे वाह

10 Jan 2024 Rashifal: कर्क राशियों के बिगड़े काम बनेंगे, क्या कहती है आपकी राशि

मध्‍य प्रदेश में चार IPS अधिकारियों का ट्रांसफर, समीर यादव को मिली SP सीएम सुरक्षा की जिम्‍मेदारी

CG Ministers OSD and PA list: छत्तीसगढ़ में मंत्रियों के OSD और PA नियुक्‍त, सामान्य प्रशासन विभाग ने जारी किया आदेश

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password