Online Marriage: गजब है ऑनलाइन की दुनिया, कोरोना भी नहीं रोक पाया यह अनोखी शादी, जानें क्‍यों?

राजस्‍थान। कोरोना माहमारी ने इंसान को मुश्किलों में रहना सीखा दिया है। सबको एक दूसरों से दूर भी कर दिया है। अब यह दूरी सामाजिक रीति रिवाजों में भी देखने को मिल रही है। राजस्‍थान में इस समय शादियों के सीजन में सैकड़ों व‍िवाह हो रहे हैं। सिरोही जिले के आबूरोड स्थित एक होटल में एक शादी में दूल्‍हा, दुल्‍हन थे पर पंडित नहीं थे। इसके बाद 400 किलोमीटर दूर बैठकर पंडित ने शादी सम्पन्न करवाई। वीडियो कॉल के जरिए यह शादी हुई।

दरअसल, शादियों के चल रहे है सीजन में कई शादियां कोरोना काल के चलते टल गई है तो कई शादियों सरकार की गाइडलाइन के अनुसार सम्पन्न हो रही है। आबूरोड के मावल में ऐसी ही एक शादी करवाई गई, जिसमें पंडित नहीं होने पर किशनगढ़ में बैठे पंडित ने वीडियो कॉलिंग के जरिए मंत्र पढ़कर शादी को सम्पन्न करवाई। आबूरोड के गांधीनगर निवासी रमेशचंद्र कश्यप की पुत्री निशा का विवाह गुजरात के डीसा निवासी मोहित से सोमवार को हुआ। जिस पंडित को शादी के लिए आमंत्रित किया था ज्यादा आयु और कोरोना सख़्ती के चलते वह पंडित शादी में नहीं आ सके।

वीडियो कॉलिंग में जरिए ऑनलाइन शादी करवाई

इस पर शादी में आए कुछ परिचितों ने अजमेर के किशनगढ़ निवासी सत्येंद्र शर्मा के बारे में बताया जिस पर परिजनों ने पंडित सत्येंद्र शर्मा से सम्पर्क किया। दूरभाष पर पंडित ने परिजनों ने बताया क‍ि वह आबूरोड नहीं आ सकते, पर वीडियो कॉलिंग में जरिए ऑनलाइन शादी करवा देंगे। इस पर दूल्हा और दुल्हन दोनों के परिजनों ने सहमति जाहिर की। महूर्त अनुसार, सोमवार दोपहर तीन बजे पंडित सत्येंद्र शर्मा को वीडियो कॉल किया गया। मंडप में हवनकुंड में अग्नि को साक्षी मानकर पंडित ने ऑनलाइन वैदिक संस्कार के साथ मन्त्र पढ़कर करीब तीन घंटे में शादी करवाई।

अग्नि के सात फेरे लेकर विवाह की रस्म निभाई

इस दौरान पंडित वीडियो कॉल के जरिए जो बता रहे थे। दूल्हा-दुल्हन वैसे करते रहे है और अग्नि के सात फेरे लेकर विवाह की रस्म निभाई। पंडित सत्येंद्र शर्मा ने बताया क‍ि कोरोना काल के चलते पहली बार उन्होंने ने ऑनलाइन शादी करवाई है। इससे पूर्व वह धार्मिक आयोजन ऑनलाइन करवा चुके है। इस शादी में सभी रस्म वैदिक रीतिरिवाज़ से सम्पन्न करवाई गई।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password