गोवा में पर्यटकों की संख्या बढ़ी, लेकिन कोरोना से नववर्ष जश्न के फीका रहने के आसार

पणजी, 26 दिसंबर (भाषा) कोरोना वायरस के प्रकोप के कारण लागू दिशानिर्देशों और इंग्लैंड में वायरस के नए स्वरूप का पता लगने से इस साल गोवा में नववर्ष के जश्न और पार्टियों के फीका रहने के आसार हैं।

इंग्लैंड में वायरस के नए स्वरूप के सामने आने के बाद उड़ानें प्रभावित हुयी हैं।

वर्ष 2021 का स्वागत करने के लिए हजारों पर्यटक गोवा पहुंच चुके हैं लेकिन उड़ानों पर रोक के कारण इस साल राज्य में विदेशी पर्यटकों की कमी महसूस की जाएगी।

छुट्टियों के मौसम में गोवा में विदेशी यात्रियों की विशेष भीड़ होती है जो समुद्र तटों पर धूप स्नान करते नजर आते हैं। लेकिन यह वर्ष पिछले वर्षों से हटकर होगा क्योंकि विभिन्न देशों से आने वाली उड़ानें अभी शुरू नहीं हुयी हैं। इस बीच ब्रिटेन में वायरस के नए स्वरूप मिलने के बाद कई देशों ने नए सिरे से उड़ानों पर रोक लगा दी है।

होटल उद्योग से जुड़े लोगों के अनुसार महामारी के बावजूद होटलों व ठहरने के अन्य स्थानों में पर्यटकों की संख्या संतोषजनक है।

ट्रैवल एंड टूरिज्म एसोसिएशन ऑफ गोवा (टीटीएजी) के अध्यक्ष नीलेश शाह ने कहा, ‘राज्य के पर्यटन विभाग के रिकॉर्ड के अनुसार, 46,000 कमरों में से केवल 27,000 कमरे ही पर्यटकों के लिए खोले गए हैं।’

शाह ने कहा कि छोटे होटलों में क्रिसमस और नए साल के दौरान 80 फीसदी कमरे भरे हुए हैं, वहीं चार और पांच सितारा होटल लगभग पूरी तरह से में भर गए हैं।

उन्होंने कहा कि पर्यटकों को आकर्षित करने के लिए होटल ने अपने कमरे की दरों में 20 से 30 प्रतिशत तक की कमी कर दी है।

शाह ने कहा, ‘पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए राज्य सरकार की लगातार कोशिशों से पर्यटन उद्योग को धीरे-धीरे सामान्य स्थिति में लौटने में मदद मिली है।’

भाषा अविनाश उमा

उमा

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password