Corona Update: कोरोना के कहर से श्मशानघाट पर लगा चिताओं का अंबार, सामने आ रहीं रूह कंपाने वाली तस्वीरें…

जबलपुर। प्रदेश में कोरोना की दूसरी लहर ने सरकार की नींद उड़ा रखी है। रोजाना हजारों मरीज सामने आ रहे हैं। सरकार और प्रशासन के तमाम प्रयासों के बाद भी कोरोना के संक्रमण को काबू नहीं कर पा रहे हैं। प्रदेश के जबलपुर में मंगलवार को श्मशानघाट पर चिताओं का अंबार लगा रहा। यहां कोरोना संक्रमित मरीजों के 8-10 शवों का अंतिम संस्कार किया गया है। यहां मंगलवार को श्मशानघाट का नजारा अलग ही नजर आया। यहां जल रही चिताओं की आग बुझती नहीं दिखी।

एक के बाद एक चिताएं जलती रहीं। खास बात यह है कि यह हालात बीते एक महीने से बने हुए हैं। कोरोना का यह सबसे भयावह रूप माना जा रहा है। अंतिम संस्कार करने वाली संस्था ने रोजाना 10 से 12 लोगों के अंतिम संस्कार करने की बात कही है। कोरोना महामारी के कारण होने वाली मौतों के बाद श्मशानघाट का दृश्य बदल रहीं हैं। यहां का नजारा रूह कंपाने वाला है। यहां एक साथ कई-कई लाशों का अंतिम संस्कार किया जा रहा है। इनमें से ज्यादातर कोरोना संक्रमित मरीज रहे हैं।

30 दिन में 80 से ज्यादा लोगों का अंतिम संस्कार…
आंकड़ों के मुताबिक जबलपुर के श्मशानघाट में एक महीने में 80 से ज्यादा लोगों का अंतिम संस्कार किया गया है। इनमें से अधिकांश लोग कोरोना संक्रमित रहे हैं। बता दें कि प्रदेश में कोरोना की दूसरी लहर ने प्रशासन की चिंताएं बढ़ा दी हैं। कोरोना की रफ्तार तेजी से बढ़ रही है। रोजाना 3 हजार के करीब मामले सामने आ रहे हैं। मंगलवार को 3722 नए संक्रमित मरीज सामने आए हैं। वहीं मंगलवार को कुल 18 लोगों ने कोरोना संक्रमण के कारण दम तोड़ दिया है।

तेजी से बढ़ रहे कोरोना मरीजों का प्रदेश में पॉजिटिविटि रेट 11.11 प्रतिशत पहुंच गया है। जनवरी में यह रेट गिरकर 1 प्रतिशत हो गया था। अब कोरोना के तेजी से बढ़ते संक्रमण ने शिवराज सरकार की भी नींद उड़ा रखी है। प्रदेश के चार महानगरों में हालात लगातार बिगड़ते जा रहे हैं। मंगलवार को सबसे ज्यादा केस इंदौर से सामने आए हैं। इंदौर में 805, भोपाल में 582, जबलपुर में 257 और ग्वालियर में 160 नए मरीज सामने आए हैं। साथ ही प्रदेश के 37 जिले ऐसे हैं जहां रोजाना 20 से ज्यादा लोग संक्रमित निकल रहे हैं।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password