Cyclone Tauktae: 16 मई को आ सकता हैं 2021 का पहला चक्रवाती तूफान, देश के इन राज्यों में मचा सकता हैं भारी तबाही

Cyclone Tauktae: 16 मई को आ सकता हैं 2021 का पहला चक्रवाती तूफान, देश के कई राज्यों में मचा सकता हैं भारी तबाही

नई दिल्ली।  मौसम विभाग ने इस सप्ताह देश के पश्चिमी तट की ओर से चक्रवाती तूफान आने की भविष्यवाणी की है। दक्षिण-पूर्व अरब सागर के ऊपर एक कम दबाव का क्षेत्र बन रहा है, जिसके अरब सागर से सटे लक्षद्वीप की ओर बढ़ने की आशंका है। इस दौरान ये तूफान धीरे- धीरे तेज होता जाएगा। भारतीय मौसम विभाग (आईएमडी) के अनुसार देश के पश्चिमी तट पर रविवार तक साल का पहला चक्रवाती तूफान दस्तक देगा। लक्षद्वीप, केरल, कर्नाटक, गोवा, महाराष्ट्र और गुजरात इसका सामना करेंगे।

60 किलोमीटर की रफ्तार से चलेगी हवा
मौसम विभाग की तरफ से जारी अलर्ट के मुताबिक लक्षद्वीप, मालदीव के इलाकों में 40 से 60 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से तेज हवाएं चलेंगी। चक्रवाती तूफान के कारण देश के कई हिस्सों में भारी बारिश, आंधी और तेज हवाएं चलने की आशंका है। यह लक्षद्वीप, केरल, कर्नाटक, गोवा, महाराष्ट्र और गुजरात को प्रभावित कर सकता है। ऐसे में विभाग ने मुछआरों को समुद्र में नहीं जाने का अलर्ट जारी किया है। विभाग का कहना है कि 14 से 16 मई के बीच केरल, कर्नाटक, तमिलनाडु और महाराष्ट्र समेत कई इलाकों में भारी बारिश हो सकती है। रिपोर्ट के अनुसार, तूफान संभवत: 20 मई को कच्छ क्षेत्र से गुजरते हुए दक्षिण पाकिस्तान का रुख कर सकता है। यदि ऐसा होता है तो यह गुजरात के तटीय इलाकों में 17 या 18 मई तक पहुंचेगा।

16 मई तक तेज होगा सकता है तूफान
‘तौकाते’ 16 मई तक पूर्वी मध्य अरब सागर में जोर पकड़ सकता है. इसके उत्तर पश्चिम की ओर बढ़ने संभावना जताई गई है, हालांकि कुछ न्यूमेरिकल मॉडल गुजरात और दक्षिण में कच्छ क्षेत्रों की ओर होने की संभावना को दर्शाते हैं, जबकि अन्य दक्षिण ओमान की ओर इसके जाने के संकेत देते हैं।

2021 का पहला चक्रवाती तूफान ‘तौकाते’
यह 2021 का पहला चक्रवाती तूफान होगा। इसका नाम म्यांमार की तरफ से ‘तौकाते’ रखा है, जिसका अर्थ होता है, अत्यधिक आवाज करने वाली छिपकली।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password