इंदौर अग्निकांड : सनकी आशिक का कबूलनामा, लड़की मांगती थी पैसे! साइनाइड स्टोरी

Indore Fire Case : मध्यप्रदेश के मिनी मुंबई कहे जाने वाले इंदौर (Indore Fire Case) की सुबह उस समय मनहूस साबित हुई जब खबर आई की एक मकान में आग लगने से 7 लोगों की जिंदा जलकर मौत (Indore Fire Case) हो गई। मामला इतना दर्दनाक था कि लोगों की रूह कांप उठी। अग्निकांड (Indore Fire Case) इतना भयानक था कि इमारत से दो से तीन लाशे ऐसी निकली जो जलकर पूरी तरह से कंकाल में तब्दील हो गई थी। जबकि अन्य लोगों की दमघुटकर मौत हो गई थी। इंदौर की स्वर्णबाग कॉलोनी की तीन मंजिला इमारत में हुए अग्निकांड (Indore Fire Case) में उस समय नया मोड़ आया जब पता चला कि एक 27 साल के सिरफिरे आशिक ने शादी को लेकर युवती से बदला लेने के लिए उसकी स्कूटी में आग लगाई थी। लेकिन आग 7 लोगों को ले डूबेगी यह किसी को पता नहीं था। सिरफिरे आशिक ने इमारत की पार्किंग में खड़ी युवती की स्कूटी को आग के हवाले कर दिया था। बाद में आग ने विकराल रूप धारण कर लिया और भीषण आग में 7 लोग जलकर स्वाह हो गए। वही अग्निकांड (Indore Fire Case) के बाद आरोपी आशिक फरार हो गया था।

युवती मांगी थी पैसे – सनकी आशिक

अग्निकांड़ (Indore Fire Case) के मुख्य आरोपी शुभम दीक्षित का एक वीडियो सामने आया है, जिसमें उसने आग लगाने की बात कबूली है। आरोपी शुभम ने कबूल करते हुए पुलिस को बतया कि मैं सना नाम की लड़की से बहुत परेशान था। उसने मेरे साथ बहुत गलत किया। मुझसे खूब खर्चा करवाया। उसने मुझसे पैसे लिए। वो हमेशा किसी ना किसी बात के लिए पैसे मांगती थी। ये दिला दो, वो दिला दो। मुझे बाद में पता चला, वो मुझे बेवकूफ बना रही है। मैं उससे सारे रिश्ते तोड़ना चाहता था लेकिन वो मेरे पीछे ही पड़ गई। मैं तो सिर्फ उसकी गाड़ी की सीट जलाना चाहता था। लेकिन मुझे नहीं पता था कि इतना बड़ा कुछ हो जाएगा। आरोपी ने आगे बताया कि शनिवार की सुबह उसी लड़की ने फोन पर बताया की मल्टी में आग लग गई है। मैं दिनभर घर पर ही था लेकिन जब पता चला की सीसीटीवी में मैं भी आ गया हूं तो मैं भाग गया, मैं करता भी क्या।

सीसीटीवी फुटेज से हुआ खुलासा

पहली नजर में पुलिस को लगा था कि इमारत में शॉर्ट सर्किट से आग लगी है। लेकिन इमारत के आसपास लगे सीसीटीवी कैमरों की जांच की गई तो पता चला की इमारत की पार्किंग में खडे एक स्कूटर में किसी व्यक्ति ने जानबूझकर आग लगाई थी। जिससके चलते आग ने पूरी इमारत (Indore Fire Case) को अपनी आगोश में ले लिया था। जब सीसीटीवी फुटेज को अच्छी तरह से खंगाला गया तो एक यूवक स्कूटी में आग लगाता दिखाई दिया। वह बोतल से पेट्रोल निकालकर स्कूटी को आग के हवाले कर रहा है। इतना ही नही आरोपी ने सीसीटीवी को भी तोड़ने कोशिश की थी। आरोपी की पहचान कॉलोनी के रहने वाले शुभम के रूप में की गई। शुभव दीक्षित मूल रूप से झांसी का रहने वाला है। जब पुलिस ने आसपास के लोगों से पूछताछ की तो पता चला की आरोपी की युवती से कुछ दिनों से विवाद चल रहा था।

युवती से शादी करना चाहता था आरोपी

पुलिस को पूछताछ में पता चला कि शुभव दीक्षित रिहाइशी इमारत के एक फ्लैट में छह महीने पहले किरायेदार के रूप में रहता था। इसी इमारत में रहने वाली महिला से शादी करना चाहता था, लेकिन महिला की शादी कहीं और तय हो गई थी। इसके बाद दीक्षित ने महिला के प्रति खुन्नस पाल ली थी। पुलिस को यह भी मालूम चला कि शादी के अलावा करीब 10,000 रुपये के लेन-देन को लेकर भी दीक्षित और संबंधित महिला के बीच कुछ दिन पहले विवाद हुआ था। अग्निकांड (Indore Fire Case) के वक्त महिला संबंधित इमारत में ही थी। हालांकि, वह सुरक्षित हैं अग्निकांड का आरोपी दीक्षित एक निजी कम्पनी में काम करता है और महिला से धन के विवाद के चलते उसने स्वर्ण बाग कॉलोनी की रिहायशी इमारत छह महीने पहले छोड़ दी थी। पुलिस ने शुभम दीक्षित के खिलाफ 302 (हत्या) और 436 के तहत मामला दर्ज किया है।

अग्निकांड में मारे गए सात लोग

अग्निकांड (Indore Fire Case) में मारे गए सात लोगों में ईश्वर सिंह सिसोदिया और उनकी पत्नी नीतू सिसोदिया शामिल हैं। यह दम्पति इमारत के फ्लैट में किराए पर रह रहे थे क्योंकि इसके सामने ही उनका मकान बन रहा था। अग्निकांड (Indore Fire Case) में एक अन्य महिला की भी मौत हुई है, जिसकी पहचान आकांक्षा के रूप में हुई है। इमारत की तीनों मंजिलों पर अलग-अलग फ्लैट बने हुए थे इमारत की निचली मंजिल का मुख्य दरवाजा और ऊपरी मंजिलों की ओर जाने वाली सीढ़ियां भीषण लपटों और गहरे धुएं से घिरी थीं, जबकि तीसरी मंजिल से छत को जाने वाला दरवाजा जलकर बेहद गर्म हो गया था। घटना के दौरान ज्यादातर लोग इमारत में फंसे रह गए। हालांकि, कुछ लोगों ने बालकनी में आकर जान बचाई।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password