भूतों का आतंक: कभी इस गांव में 400 लोग रहते थे, लेकिन आज स्थिति यह है कि पूरा गांव खंडहर में तब्दील हो गया है

Chauka village

छतरपुर। हम सब ने बचपन में दादी-नानी की डरावनी कहानियां सुनी होगी। बचपन में जब भी हम इन कहानियों को सुनते थे तो डर के मारे हमारी घिग्घी बंध जाती थी। हालांकि कई लोग इसे बस किस्से-कहानियां ही मानते हैं। लेकिन कई घटनाएं ऐसे भी सामने आई हैं जो हमें सोचने पर मजबूर कर देती हैं। आज हम आपको एक ऐसे ही गांव के बारे में बताने जा रहे हैं जहां भूत के डर से पूरा गांव वीरान हो गया।

गांव आज कल सुर्खियों में है

मध्य प्रदेश के छतरपुर जिले से करीब 40 किलोमीटर दूर बसा एक छोटा सा गांव है ‘चौका’। इन दिनों यह गांव भूतिया कहानियों और असमान्य घटनाओं को लेकर सुर्खियों में है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार आज से 15 साल पहले तक ये गांव काफी आबाद था। लेकिन अनहोनी और खौफनाक घटनाओं के कारण धीरे-धीरे करके पूरा गांव खाली हो गया। हालांकि अभी भी यहां 2-4 लोग रहते हैं।

गांव के लोग क्या दावा करते हैं

गांव के लोग दावा करते हैं कि वहां आत्माओं और भूत-प्रेत का वास है। हालांकि इसकी सच्चाई कितनी है ये आज तक कोई नहीं जानता। गांव में करीब 100 मकान हैं। कभी यहां 400 लोग निवास करते थे। लेकिन आज यहां केवल 2-4 लोग ही रहते हैं। ज्यादातर लोग गांव से पलायन कर गए हैं। वर्तमान में यहां एक चौकीदार, दो पंडित और एक महिला रहती है। स्थानीय लोगों की माने तो गांव के लोगों को भूत-प्रेत परेशान किया करते थे, जिस वजह से गांव खाली होता चला गया। इतना ही नहीं गांव में फैली एक रहस्यमयी बीमारी से कई लोगों की मौत भी हो गई थी। अब आलम ये है कि गांव पूरी तरह से खंडहर में तब्दील हो गया है।

आस-पास के लोग भी गांव में जाने से कतराते हैं

आस पास के गांव के लोग भी इस गांव में जाने से कतराते हैं। लोग बताते है कि पहले गांव के पुरूष रहस्यमयी बीमारी के शिकार हुए इसके बाद, गांव की महिलाएं भी अजीब-अजीब हरकते करने लगी। गांव में डर का महौल इतना बना कि लोग गांव छोड़कर भाग गए।

नोट- हमने इस आर्टिकल को मीडिया रिपोर्ट्स के आधार पर तैयार किया है। बंसल न्यूज इसके तथ्यों की पुष्टि नहीं करता है।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password