SSR Death case: शोविक चक्रवर्ती और सैमुअल मिरांडा हो सकते हैं गिरफ्तार, NCB को मिले अहम सबूत

मुंबई: सुशांत सिंह राजपूत केस में नार्कोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) की टीम भी जांच कर रही है। NCB इस मामले में ड्रग्स के एंगल से जांच में जुटी है। वहीं आज सुबह टीम ने रिया चक्रवर्ती के सांताक्रूज फ्लैट की करीब 3.30 घंटे तक तलाशी ली। जिसके बाद NCB की टीम ने रिया के भाई शोविक चक्रवर्ती और सैमुअल मिरांडा को हिरासत में ले लिया और पूछताछ के लिए ले गई। वहीं कई मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक अब कयास लगाए जा रहे हैं कि जल्द ही ड्रग्स मामले में दोनों की गिरफ्तारी हो सकती है।

सुशांत सिंह राजपूत की मौत के केस में ड्रग्स एंगर की जांट में (NCB) की टीम को कई सबूत मिले हैं जिसके तहत उन्होंने रिया के भाई शोविक और सैमुअल मिरांडा को हिरासत में लिया है। पूछताछ के बाद दोनों की गिरफ्तारी भी हो सकती है। फिलहाल दोनों पर गिरफ्तारी की तलवार लटक रही है। बता दें कि NDPS कानून के मुताबिक ये जरूरी नहीं है कि किसी शख्स या आरोपी के पास से ड्रग्स बरामद हो तभी उसको गिरफ्तार किया जाएगा या उसे सजा होगी।

गिरफ्तारी के लिए काफी है वाट्सऐप चैट्स

NDPS की धाराओं के तहत किसी शख्स की गिरफ्तारी के लिए ड्रग्स डील से जुड़े दस्तावेज यानी वाट्सऐप चैट्स, ड्र्ग्स खरीद फरोख्त में मनी ट्रेल के सबूत और CRD कॉल डिटेल्स के रिकॉर्ड काफी होते हैं। NCB के सामने दिए गए बयान कोर्ट में दिए गए बयान के बराबर माने जाते हैं और NCB के सामने NDPS अधिनियम, 1985 की धारा 67 के तहत दिए गए आरोपियों के बयान सबसे ज्यादा मायने रखते हैं। इससे साफ होता है कि शोविक और सैमुअल मिरांडा की मुश्किलें बढ़ सकती हैं।

बट ड्रग्स में 1 से 10 साल तक की होती है सजा

बता दें कि बट ड्रग्स की खरीद फरोख्त में कम से कम 1 साल से लेकर अधिकतम 10 साल तक सजा का प्रावधान है। वहीं जानकारी के मुताबिक NCB के पास ऐसे कई पुख्ता सबूत हैं कि शोविक और मिरांडा बट ड्रग्स की न केवल ​डीलिंग कर रहे थे बल्कि उन्होंने कई बार बट खरीदी भी थी। इसके लिए उन्होंने जैद से कई बार मुलाकात की और ड्रग्स के बदले पैसे भी दिए हैं।

जैद और बासित से थे शोविक और मिरांडा के कनेक्शन

सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में ड्रग्स कनेक्शन की जांच कर रही NCB की टीम ने इस पूरे नेटवर्क के दो अहम किरदारों जैद और बासित को गिरफ्तार किया है. इनकी गिरफ्तारी के बाद से शोविक और मिरांडा के साथ उनके कनेक्शन का भी पता चला है. शोविक और मिरांडा से अब जब NCB पूछताछ करेगी तो सीधे तौर पर उन दोनों से जैद और बासित से उनके ड्रग्स कारोबार के रिश्तों के बारे में सवाल किए जाएंगे. ऐसे में अब शोविक और मिरांडा NCB की पूछताछ में कोई भी झूठा बयान नहीं दे सकेंगे।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password