Surya Rashi Parivartan 2021: 16 नवंबर को सूर्य करेंगे वृश्चिक में प्रवेश, नीचभंग होगा समाप्त, इन पर होगा असर

surya ka rashi parivartan

नई दिल्ली। नव ग्रहों में Surya Rashi Parivartan 2021 से महत्वपूर्ण माने जाने वाले ग्रह सूर्य, मंगलवार यानि 16 नवंबर को तुला राशि के वृश्चिक राशि में प्रवेश करने जा रहे हैं। दोपहर 12:59 बजे इनका यह गोचर होगा। जिसके बाद करीब एक माह तक यह इसी राशि में रहेंगे। 16 दिसंबर को ये 3:40 बजे गोचर कर धनु में प्रवेश करेंगे।

कम होने लगेंगे अशुभ प्रभाव
इसी के साथ तुला राशि पर गोचर करते हुए इनका नीचयोग भी भंग हो जाने से अब ये शुभ फल देने लगेंगे। इसी के साथ इनके अशुभ फलों में कमी आने लगेगी। मौसम में स्थायित्व आने लगेगा। यह गोचर विभिन्न राशि के जातकों पर भी अलग—प्रभाव छोड़ेगा। चूंकि सिंह राशि के स्वामी सूर्य मेष राशि में उच्चराशि तथा तुला राशि में नीचराशिगत संज्ञक माने जाते हैं। आइए पंडित राम गोविन्द शास़्त्री से जानते हैं। क्या होगा आप पर असर।

मेष राशि-
इस राशि पर अष्टम आयु भाव में गोचर का मिलाजुला फल दिखेगा। स्वास्थ्य पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ सकता है। अग्नि, विष तथा दवाओं के रिएक्शन से बचना होगा। मान-सम्मान में वृद्धि होगी। भूमि—भवन संबंधी मामलों में उलझने बढ़ सकती हैं। संतान संबंधी चिंता परेशान कर सकती है।

वृष राशि —
वृष राशि के जातकों के लिए सूर्य का यह गोचर शुभ फल देने वाला होगा। इस राशिवालों को नौकरी में सफलता और मान-सम्मान में वृद्धि होगी। इस दौरान आप मकान या गाड़ी खरीदने का भी मन बना सकते हैं। आय के नए साधन भी खुलेंगे। 16 नवंबर से 15 दिसंबर तक सभी कार्यों में आपको सफलता मिलेगी।

मिथुन राशि
मिथुन राशि से छठे शत्रु भाव में गोचर करते हुए सूर्य का प्रभाव आपके लिए किसी वरदान साबित हो सकता है। योजनाएं कारगर सिद्ध होगी। शत्रु परास्त होंगे। कोर्ट में सफलता मिलेगी। सरकारी नौकरी के लिए समय अनुकूल है। व्यर्थ व्यय और भागदौड़ रहेगी।

कर्क राशि —
कर्क राशि से पंचम विद्या-संतान भाव में गोचर से शोध संबंधी कार्यों में सफलता मिल सकती है। रचनात्मक शक्ति का विकास होगा। विद्यार्थियों एवं प्रतियोगिता में बैठने वाले छात्रों के लिए भी समय अनुकूल रहेगा। संतान की चिंता कम होगी।

सिंह राशि
इस राशि से चतुर्थ सुख भाव में गोचर होने से सूर्य का प्रभाव उतार-चढ़ाव वाला रहेगा। मानसिक अशांति झेलनी पड़ सकती है। सावधानी पूर्वक यात्रस करें। माता-पिता के स्वास्थ्य का ध्यान रखना होगा।

कन्या राशि
इस राशि से तृतीय पराक्रम भाव में गोचर करते हुए सूर्य का प्रभाव शुभ फल देगा। समाज में प्रतिष्ठा बढ़ेगी। कार्यो में सफलता मिलने लगेगी। धर्म के प्रति रुचि बढ़ेगी। विदेशी कंपनियों में सर्विस के प्रयास सफल होंगे। भाइयों में मतभेद बढ़ने न दें।

तुला राशि
राशि से द्वितीय धन भाव में गोचर करते हुए सूर्य का प्रभाव काफी मिलाजुला रहेगा। दाहिनी आंख में विकार हो सकता है। परिवार में भी अलगाववाद की स्थिति उत्पन्न न होने दें। आकस्मिक धन प्राप्ति हो सकती है। रुका हुआ धन वापस आएगा। प्रशासनिक अधिकारियों से संबंध मजबूत होगा।

वृश्चिक राशि —
इस राशि में गोचर करते हुए सूर्य समाज में सम्मान दिलाएगा। नया कार्य आरंभ कर सकते हैं। राज्य का पूर्ण सहयोग मिलेगा। सरकारी टेंडरों के लिए समय अच्छा है। स्वास्थ्य के प्रति सचेत रहें।

धनु राशि —
इस राशि से बारहवें हानि भाव में गोचर करते हुए सूर्य का प्रभाव कुछ खास नहीं रहेगा। भागदौड़ रहेगी। तनाव बढ़ सकता है। आर्थिक तंगी का सामना भी सामना करना पड़ सकता है। विद्यार्थियों को सफलता के लिए प्रयास करने होंगे।

मकर राशि
मकर राशि से एकादश लाभभाव में गोचर करते हुए सूर्य का प्रभाव बेहतरीन सफलता दिलाएगा। आय के साधन बढ़ेंगे। रुका हुआ धन मिल सकता है। भाइयों से सहयोग मिलेगा। कार्यक्षेत्र में भी मान सम्मान मिलेगा। कोर्ट कचहरी के मामलों में सफलता मिलेगी।

कुंभ राशि
कुंभ राशि से दशम कर्म भाव में गोचर करने से सत्ता का सहयोग मिलेगा। कार्य व्यापार में उन्नति के योग बनते दिख रहे हैं। पदोन्नति हो सकती है। सरकारी नौकरी के लिए समय अनुकूल रहेगा। जमीन-जायदाद से जुड़े मामले हल होंगे। मकान अथवा वाहन के क्रय का भी योग बनते दिख रहा है।

मीन राशि
राशि से नवम भाग्य भाव में गोचर होने से प्रभाव मिलाजुला रहेगा। कार्यों में रुकावट आ सकती हैं। पर प्रयासों से सफलता मिलेगी। धर्म एवं अध्यात्म के प्रति रुचि बढ़ेगी। धार्मिक कार्यो में दान कर पाएंगे। नागरिकता के लिए किया गया प्रयास सफल होगा।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password