Stomach Gas : मुंह से पेन चबाने से भी बनती है पेट में गैस! हो जाएं सावधान

acidity

नई दिल्ली। आज किसी को Stomach Gas भी देखो, पेट में गैस की समस्या से घिरा है। और तो और बच्चों में तक यह समस्या दिखाई देने लगी है। विशेषज्ञों की मानें तो यह आपके पाचन का अहम हिस्सा है। एक जानकारी के मुताबिक लोग दिन में पांच से 15 बार गैस निकालते हैं। अगर आपको लगता है कि आपको और लोगों की तुलना में इससे ज्यादा गैस बनती है तो हम आपको बता दें इसके पीछे कुछ खास वजहें हो सकती हैं। यह गैस और भी कई तरह की बीमारियों का कारण बन सकती है।

च्यूइंग चबाने से भी बनती है गैस
अगर आपमें भी ​च्यूइंग चबाने की खराब आदत है तो सावधान हो जाएं। इन आदतों से आपके मुंह में ज्यादा हवा भर जाती है। जैसे कि च्यूइंग गम या कोई हार्ड कैंडी चबाते समय आपके मुंह में हवा ज्यादा भर जाती है। जल्दी खाना खाने या फिर स्ट्रॉ से पेय पदार्थों का सेवन करने की आदत आपके शरीर में अधिक गैस बनाती है। आपने देखा होगा य​ही वजह है जब डाक्टर आपको आराम—आराम से खाना चबाने की सलाह देते हैं। इतना ही नहीं अगर आपको पेन या कोई भी चीज चबाने की आदत है, तो इसका मतलब है कि आप अपने पेट में अतिरिक्त हवा ले रहे हैं जो गैस के रूप में निकलती है।

कोल्ड ड्रिंक्स कम नहीं करती बल्कि बढ़ाती है गैस —
कार्बोनेटेड ड्रिंक्स जैसे बीयर, सोडा, या कोई भी बुलबुले वाले ड्रिंक्स पेट में गैस बनाने का काम करते हैं। अगर आप भी आपको कार्बोनेटेड ड्रिंक्स पसंद करते हैं। आपको अक्सर गैस की समस्या रहती है तो इसके बजाय कोई सादी ड्रिंक पीकर इस समस्या से महसूस कर सकते हैं। आपको ये आजमाने में खुद फर्क समझ में आने लगेगा। आपको बार-बार गैस बनने की असली वजह भी समझ में आने लगेगी।

सोते समय मुंह खुला रखना –
पेट में गैस भरने का एक कारण आपके द्वारा रात में मुंह खोलना भी हो सकता है। भले ही आप दिन में मुंह के जरिए अतिरिक्त हवा नहीं ले रहे हों। लेकिन हो सकता है कि आप सोते समय अनजाने में ऐसा हो रहा हो। रात में मुंह खोलकर या खर्राटे लेकर सोने वालों को इसकी समस्या होने लगती है। तो आप रात भर बहुत सारी हवा निगल सकते हैं जो अगले दिन गैस का कारण बन सकती है।

भोजन का सही पाचन न होना –
कब्ज होने या खाना आंतों में धीरे-धीरे जाने की वजह से भी पेट में गैस अधिक बनने लगती है। पेट में देर तक खाने रहने से रोगा​णु अधिक समय तक एक्टिव रहते हैं और गैस बनने का कारण बनते हैं। बढ़ती उम्र के साथ पाचन भी धीमा हो जाता है। फिर एसिडिटी का कारण बनता है।

ये चीजें भी बनाती हैं गैस —
पेट में गैस बनने का अन्य कारण कुछ खास फूड भी हो सकते हैं। जैसे कि छोटे राजमा, मटर, ब्रोकली या पत्तेदार साग, साबुत अनाज, साइलियम युक्त फाइबर फूड भी एसिडिटी का कारण बनते हैं। एक स्टडी में इस बात का खुलासा हुआ है कि राजमा या छोले को 12 घंटे पानी में भिगोने के बाद बनाने से पेट में गैस कम बनती है। खाने का ठीक से न पचना भी इसकी मुख्य वजह बनता है। कभी-कभी ऐसा भी होता है जिससे किसी को डेयरी या ग्लूटेन प्रोडक्ट सूट नहीं करते और उन्हें गैस बनने लगती है।

मेडिकल कंडीशन –
शरीर की कुछ बीमारियां या कहें तो मेडिकल कंडीशन भी होती हैं जिनकी वजह से भी पेट में बहुत ज्यादा गैस बनती है। मसलन डाइवर्टिक्युलाइटिस, अल्सरेटिव कोलाइटिस, क्रोहन्स डिजीज, इरिटेबल बाउल सिंड्रोम, डायबिटीज, थायराइड डिसफंक्शन या फिर इंटेस्टाइन ब्लॉकेज।

इस कंडीशन में डॉक्टर से संपर्क –
वैसे तो पेट में दिन में 10 से 15 बार गैस निकलना आम बात है। लेकिन कुछ खास स्थिति में गैस समस्या भी बन सकती है। परंतु फिर भी यदि गैस की वजह से पेट में तेज दर्द बना रहे, बहुत बेचैनी या सूजन महसूस हो, दस्त या कब्ज, मितली, वजन कम हो और शौच में खून जैसे लक्षण दिखाई दें तो बिना देरी करे अपने चिकित्सक से संपर्क करें।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password