Oxygen Crises In MP: प्रदेश में जल्द ही खत्म हो जाएगी ऑक्सीजन की किल्लत, लगाए जाएंगे 94 प्लांट, गृह मंत्री ने दी जानकारी…

भोपाल। प्रदेश समेत पूरे देश में कोरोना का कहर बना हुआ है। इस कोरोना काल में मरीजों को ऑक्सीजन की किल्लत का सामना करना पड़ रहा है। ऐसे में प्रदेश में ऑक्सीजन की किल्लत से राहत देने वाली खबर सामने आई है। इसके लिए सरकार द्वारा प्रदेश में कई ऑक्सीजन प्लांट शुरू किए जा रहे हैं। इन प्लांट्स में से कुछ पर काम भी शुरू किया जा चुका है। इसकी जानकारी प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने दी है। मिश्रा ने बताया कि प्रदेश में ऑक्सीजन की किल्लत दूर करने के लिए कुल 94 प्लांट स्वीकृत हुए हैं।

इनमें से 74 प्लांट प्रदेश के जिलों में लगाए जाएंगे। इसके साथ ही 20 प्लांट तहसीलों में भी लगाए जा रहे हैं। 8 प्लांट केंद्र और एयरोक्स कंपनी की मदद से खंडवा, शिवपुरी, सिवनी, उज्जैन, जबलपुर, मंदसौर, रतलाम और मुरैना जिले में लगाए जाएंगे। इसी तरह मुख्यमंत्री सहायता कोष से सीएमआईआर गैस ऑन कंपनी के जरिए भोपाल, इंदौर, ग्वालियर, रीवा और शहडोल जिलों में प्लांट लगाए जा रहे हैं। इसके साथ ही राज्य सरकार भी ऑक्सीजन प्लांट लगाने के लिए तैयारी कर रही है।

सागर समेत बड़े जिलों में लगाए जा रहे प्लांट…
23 प्लांट एरोक्स टेक कंपनी के जरिए सागर, सीहोर, विदिशा, गुना, सतना, रायसेन, बालाघाट, खरगोन, कटनी, बड़वानी, नरसिंहपुर, बैतूल, राजगढ़, भोपाल, देवास, धार, होशंगाबाद और दमोह लगाने की तैयारी की जा रही है। एक महीने में यह प्लांट तैयार हो जाएंगे। इन प्लांट्स के लगने के बाद तहसील से लेकर हर जिले में पर्याप्त ऑक्सीजन की सप्लाई रहेगी। गृह मंत्री मिश्रा ने बताया कि प्रदेश में ऑक्सीजन की किल्लत लगातार कम हो रही है। वहीं कोरोना पर स्थिति धीरे-धीरे नियंत्रण होने लगी है।

रोजाना आने वाले आंकड़ों में मरीजों की संख्या भी कम हो गई है। मरीजों के इलाज के लिए निजी अस्पतालों से भी सहमति बना दी गई है। नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि किसी को अन्याय का सामना नहीं करना पड़ेगा। इस महामारी के दौर में सीएम शिवराज सिंह खुद गांवों से जुड़ेंगे। प्रदेश में अब सरप्लस ऑक्सीजन उपलब्ध है। कोरोना कर्फ्यू के भी परिणाम सामने आने लगे हैं। जल्द ही कोरोना की स्थिति को पूरी तरह काबू में किया जाएगा।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password