Mission Oxygen: दिल्ली में 700 मीट्रिक टन ऑक्सीजन आपूर्ति कायम रखे केंद्र, नहीं आनी चाहिए सप्लाई में कमी:सिसोदिया

नई दिल्ली। (भाषा) दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने शनिवार को केंद्र से अनुरोध किया कि वह राष्ट्रीय राजधानी में 700 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की आपूर्ति कायम रखे। इसके साथ ही उन्होंने राज्यों में जीवनरक्षक गैस की आपूर्ति की प्रक्रिया को सुचारु बनाने का सुझाव दिया। सिसोदिया ने दावा किया कि उच्चतम न्यायालय के निर्देश के बावजूद गत दो दिनों में दिल्ली को ऑक्सीजन आपूर्ति में कमी आई है।

संवाददाताओं से ऑनलाइन बातचीत करते हुए सिसोदिया ने कहा कि दिल्ली को इस समय 700 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की जरूरत है। दिल्ली को पहली बार पांच मई को 730 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की आपूर्ति की गई। वह इसके लिए केंद्र को धन्यवाद देते हैं।’’ उन्होंने कहा,‘‘ हालांकि, छह मई को आपूर्ति में कमी आई और यह 577 मीट्रिक टन रही जबकि सात मई को इसमें और कमी आई और यह 487 मीट्रिक टन रह गई।

700 मीट्रिक टन से कम आपूर्ति होने पर हमारे लिए अस्पतालों की जरूरत को पूरा करना मुश्किल है।’’ सिसोदिया ने कहा कि अदालत में सुनवाई के दौरान केंद्र सरकार ने दावा किया कि भारत में मांग से अधिक ऑक्सीजन है क्योंकि देश में रोजाना 7000 से 8000 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की खपत है जबकि उपलब्धता 10 हजार मीट्रिक टन है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा अपनी व्यवस्था को सुचारु बनाने और बेहतर प्रबंधन करने की जरूरत है ताकि सभी राज्यों को उचित मात्रा में ऑक्सीजन मिले और उन्हें इसके लिए लड़ना नहीं पड़े।

सिसोदिया ने कहा कि केंद्र सरकार को देश में मांग के अनुपात में ऑक्सीजन की उपलब्धता बढाने के लिए प्रक्रिया को सुचारु बनाने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि इस समय दिल्ली को मरीजों के इलाज के लिए न्यूनतम 700 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की जरूरत है और आने वाले दिनों में बिस्तर व स्वास्थ्य अवसंरचना बढ़ाने पर 976 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की जरूरत होगी। उप मुख्यमंत्री ने उम्मीद जताई कि केंद्र सरकार दिल्ली सरकार से सहयोग करेगी और कोविड-19 संकट को देखते हुए रोजाना 700 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की आपूर्ति सुनिश्चित करेगी।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password