Shreyas Iyer: पिता चाहते थे कि बेटा टेस्ट क्रिकेट खेले, चार साल से चाहत में नहीं बदली थी व्हाट्सएप की डीपी

Shreyas Iyer

नई दिल्ली। टेस्ट मैच खेलना हर क्रिकेटर का सपना होता है। वहीं अगर कोई क्रिकेटर अपने डेब्यू मैच में ही शतक ठोक दे तो इसे खुशनुमा पल उसके जीवन में और क्या होगा। भारत के लिए टेस्ट मैच में डेब्यू करते हुए कई खिलाड़ियों ने शतक ठोका है। अब इस लिस्ट में श्रेयस अय्यर का नाम भी शामिल हो गया है। अय्यर ने न्यूजीलैंड के खिलाफ अपने डेब्यू मैच में ताबड़तोड़ शतक जड़कर कई रिकॉर्ड बनाए। श्रेयस डेब्यू टेस्ट मैच में शतक लगाने वाले 16वें भारतीय खिलाड़ी बन गए हैं। इस शतक के साथ ही उन्होंने अपने पिता का एक सपना भी पूरा किया है।

पिता चाहते थे बेटा टेस्ट क्रिकेट खेले

दरअसल, श्रेयस अय्यर के पिता चाहते थे कि उनका बेटा टेस्ट क्रिकेट खेले। उन्होंने पिछले चार साल से अपनी व्हाट्सएप डीपी नहीं बदली है, इस डीपी में श्रेयस ने 2017 में खेले गए बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी को अपने हाथों में उठाया हुआ है। श्रेयस के शतक जड़ने के बाद उनके पिता ने कहा कि मैंने चार साल से यह डीपी नहीं बदली है। यह डीपी मेरे दिल के करीब है। क्योंकि 2017 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ धर्मशाला में खेले गए मैच में श्रेयस अय्यर टीम में विराट कोहली के स्टैंडबाय के रूप में शामिल थे। जब भारत ने इस मैच को जितकर ट्रॉफी अपने नाम किया था, तब अय्यर ने बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी के साथ एक तस्वीर खिंचवाई थी। पिता ने आगे कहा कि वह पल मेरे लिए अनमोल था और मैं तब से इंतजार कर रहा था कि कब श्रेयस भारत के लिए टेस्ट मैच खेलेगा। जब रहाणे ने कहा कि इस मैच में अय्यर खेल रहा है, वह मेरे जीवन का सबसे खुशनुमा पल था।

157 गेंदों में पूरी की सेंचुरी

बतादें कि कानपुर के ग्रीनपार्क स्टेडियम में खेल गए सीरीज के पहले टेस्ट मैच में दूसरे दिन श्रेयस अय्यर ने अपने जीवन का पहला टेस्ट शतक जड़ा। श्रेयस ने 157 गेंदों पर अपनी सेंचुरी पूरी की। शतक जड़ने के बाद 105 रनों के निजी स्कोर पर श्रेयस अय्यर आउट हो गए। उन्होंने अपनी शतकीय पारी में 12 चौके और 2 छक्के लगाए। इसके साथ ही वे दिग्गज लाला अमरनाथ, BCCI अध्यक्ष सौरभ गांगुली, विरेंद्र सहवाग, रोहित शर्मा आदि के क्लब में शामिल हो गए। मालूम हो कि भारत की ओर से डेब्यू टेस्ट में सबसे पहला शतक लाला अमरनाथ ने लगाया था।

फर्स्ट क्लास क्रिकेट में शानदार प्रदर्शन

श्रेयस अय्यर ने यहां तक पहुंचने के लिए फर्स्ट क्लास क्रिकेट में शानदार प्रदर्शन किया है। फर्स्ट क्लास क्रिकेट में उनका औसत 52.18 का है और स्ट्राइक रेट (81.54) भी काफी तेज है। श्रेयस अय्यर भी टेस्ट क्रिकेट खेलने के लिए काफी उत्सुक थे। टीम में डेब्यू के समय उन्हें पूर्व कप्तान सुनील गावस्कर ने कैप थमाई थी। अय्यर इस कैप को थामते वक्त भावुक हो गए थे और उन्होंने इस कैप को चूम लिया था।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password