'Shooter Dadi' Chandro Tomar का कोरोना से निधन, दादी की लाइफ पर बनी थी फिल्म सांड की आंख

‘Shooter Dadi’ Chandro Tomar का कोरोना से निधन, दादी की लाइफ पर बनी थी फिल्म सांड की आंख

shooter dadi

मुंबई। शूटर दादी के नाम से मशहूर चंद्रो तोमर का कोरोना संक्रमण के कारण निधन हो गया। पिछले दिनों वे सांस लेने में परेशानी के चलते मेरठ के अस्पताल में भर्ती हुईं थीं। 89 साल की चंद्रो के संक्रमित होने की खबर उनके सोशल मीडिया हैंडल पर परिवार ने 3 दिन पहले ही पोस्ट की थी। उत्तर प्रदेश के बागपत की रहने वाली दादी के निधन पर सांड की आंख की एक्ट्रेस तापसी पन्नू ने ट्वीट कर श्रद्धांजलि दी।

मूलरूप से शामली के गांव मखमूलपुर में शूटर दादी का जन्म एक जनवरी 1932 को हुआ। सोलह साल की उम्र में जौहड़ी के किसान भंवर सिंह से उनकी शादी हो गई। भरे-पूरे परिवार में निशानेबाजी सीखने की दिलचस्प कहानी है।

दादी की लाइफ पर बनी थी फिल्म सांड की आंख

बता दें कि साल 1998 में जौहड़ी में शूटिंग रेंज की शुरुआत डॉ. राजपाल सिंह ने की। लाडली पौत्री शेफाली तोमर को निशानेबाजी सिखाने के लिए वह रोज घर से शूटिंग रेंज तक जाती थी। शेफाली शूटिंग सीखती और चंद्रो तोमर देखती रहती थी। एक दिन चंद्रो तोमर ने एयर पिस्टल शेफाली से लेकर खुद निशाना लगाया। पहला निशाना दस पर लगा… दादी की निशानेबाजी देख रहे बच्चों ने तालियां बजाई। यहीं से शुरू हुआ चंद्रो तोमर की निशानेबाजी का सफर।

Share This

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password