MP Nakulnath: शिवराज के “स्वास्थ्य आग्रह” को कमलनाथ ने बताया था नौटंकी, अब समर्थन में उतरे उनके बेटे नकुलनाथ

भोपाल। प्रदेश में कोरोना के बढ़ते प्रकोप के बाद सीएम शिवराज सिंह ने खुद इसकी कमान संभाली थी। इसको लेकर लोगों को जागरुक करने का जिम्मा सीएम शिवराज ने खुद उठाया था। इसको लेकर शिवराज सिंह ने “स्वास्थ्य आग्रह” कार्यक्रम की शुरुआत की थी। बुधवार को इस कार्यक्रम के 24 घंटे पूरे हो गए हैं। शिवराज के इस “स्वास्थ्य आग्रह” कार्यक्रम को प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और पीसीसी चीफ कमलनाथ ने नौटंकी बताया था। अब कमलनाथ के बेटे और सांसद नकुलनाथ ने सीएम के “स्वास्थ्य आग्रह” कार्यक्रम का समर्थन किया है। नकुलनाथ ने सोशल मीडिया पर सीएम शिवराज सिंह के “स्वास्थ्य आग्रह” कार्यक्रम का समर्थन करते हुए कहा कि सरकार द्वारा #MaskUpMP अभियान को मैं भी समर्थन देता हूं।

नकुलनाथ ने लिखा कि मैं भी लोगों को मास्क पहनने और सोशल डिस्टेंसिंग रखने के लिए जागरुक करता हूं। साथ ही नकुलनाथ ने प्रदेश में स्वास्थ्य व्यवस्थाओं को बेहतर करने की बात कही है। नकुलनाथ ने कहा कि मैंने सरकार से आग्रह किया है कि स्वास्थ्य सुविधाओं को बेहतर किया जाए। इससे पहले दिग्विजय सिंह और कांग्रेस विधायक लक्ष्मण सिंह भी शिवराज के “स्वास्थ्य आग्रह” अभियान का समर्थन किया है।

कमलनाथ ने बताया था नौटंकी…
बता दें कि शिवराज के “स्वास्थ्य आग्रह” अभियान को लेकर कमलनाथ ने तंज कसा था। कमलनाथ ने इस अभियान को नौटंकी बताया था। कमलनाथ ने ट्वीट कर कहा था कि जब भी प्रदेशवासियों को सरकार की जरूरत होती है, न्याय की आवश्यकता होती है, विपरीत परिस्थियों आतीं हैं तो सीएम शिवराज सिंह मुख्य मुद्दों से ध्यान भटकाकर उपवास और सत्याग्रह जैसे आयोजन करने लगते हैं। कमलनाथ ने कहा था कि मंदसौर के पिपलिया में मंडी में जब किसानों के सीने पर गोलियां दागीं गईं, किसानों की मौत हुई और किसान सीएम शिवराज को अपने पास बुलाते रहे लेकिन वह किसानों के पास जाने की वजाय उपवास पर बैठ गए।

आज जब प्रदेशवासियों को संकट के इस दौर में मुखिया की जरूरत है तो वह उपवास जैसी नौटंकी कर रहे हैं। गौरतलब है कि सीएम शिवराज सिंह लगातार लोगों को कोरोना बचाव के लिए जागरुक कर रहे हैं। इसके लिए वह सड़कों पर भी उतर आए हैं। बता दें कि प्रदेश में कोरोना की दूसरी लहर ने प्रशासन की चिंताएं बढ़ा दी हैं। कोरोना की रफ्तार तेजी से बढ़ रही है। रोजाना 3 हजार के करीब मामले सामने आ रहे हैं। मंगलवार को 3722 नए संक्रमित मरीज सामने आए हैं। वहीं मंगलवार को कुल 18 लोगों ने कोरोना संक्रमण के कारण दम तोड़ दिया है। तेजी से बढ़ रहे कोरोना मरीजों का प्रदेश में पॉजिटिविटि रेट 11.11 प्रतिशत पहुंच गया है।

जनवरी में यह रेट गिरकर 1 प्रतिशत हो गया था। अब कोरोना के तेजी से बढ़ते संक्रमण ने शिवराज सरकार की भी नींद उड़ा रखी है। प्रदेश के चार महानगरों में हालात लगातार बिगड़ते जा रहे हैं। मंगलवार को सबसे ज्यादा केस इंदौर से सामने आए हैं। इंदौर में 805, भोपाल में 582, जबलपुर में 257 और ग्वालियर में 160 नए मरीज सामने आए हैं। साथ ही प्रदेश के 37 जिले ऐसे हैं जहां रोजाना 20 से ज्यादा लोग संक्रमित निकल रहे हैं।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password