महिला जज ने की आत्महत्या, फांसी लगाकर दी जान

मुंगेली: छत्तीसगढ़ के मुंगेली की जिला एवं सत्र न्यायधीश कांता मार्टिन ने खुदकुशी कर ली। उनके सरकारी बंगले का दरवाजा तोड़कर पुलिस अंदर पहुंची और साड़ी के फंदे से लटके शव को बाहर निकाला। फिलहाल ये स्पष्ट नहीं हो पाया है कि महिला जज ने आखिर इस तरह से अपनी जान क्यों दे दी, बताया जा रहा है कि कांता मार्टिन अकेले रहती थीं। अकेलेपन की वजह से वे डिप्रेशन में थीं।

मुंगेली के SP अरविंद कुजूर ने बताया कि, रविवार को सुबह 9 बजे मार्टिन का कुक आया था उसने 9 बजे बंगले पर घंटी बजाई और दरवाजा लॉक होने की वजह से वह काफी देर तक बेल बजाता रहा लेकिन जब गेट नहीं खुला तो उसने पड़ोस में रहले वाले कोर्ट के दूसरे अफसरों को सूचना दी, इसके बाद SP मौके पर पहुंचे। उन्होंने अंदर देखा तो मार्टिन का शव पंखे पर लटका हुआ था। कमरे से पुलिस को कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है।

मध्यप्रदेश की रहने वाली थीं, मार्टिन

कांता मार्टिन मध्यप्रदेश के कटनी की रहने वाली थीं। जानकारी के मुताबिक उनके पति की करीब डेढ़ साल पहले ही मौत हो चुकी थी। वहीं उनके दोनों बेटे बाहर रहते हैं। वे 2019 जुलाई में मुंगेली जिले की जिला एवं सत्र न्यायधीश थीं। इसके पहले वे बिलासपुर, कांकेर, दुर्ग, और रायपुर में पोस्टेड रहीं हैं।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password