सिडनी में होटल में पृथकवास चुनौतीपूर्ण, पर हम परेशान नहीं हैं : रहाणे

सिडनी, छह जनवरी (भाषा) भारतीय कप्तान अजिंक्य रहाणे ने बुधवार को यह कहकर पृथकवास को लेकर उठे विवाद को कम करने की कोशिश की कि उनकी टीम कड़े जैव सुरक्षा प्रोटोकॉल से परेशान नहीं है लेकिन उन्होंने स्वीकार किया कि जबकि पंचतारा होटल के बाहर जिंदगी सामान्य नजर आती है तब कमरों में बंद रहना चुनौतीपूर्ण है।

अज्ञात मीडिया रिपोर्टों में कहा गया है कि भारतीय टीम सिडनी में पृथकवास के नियमों के कारण नाखुश है। खिलाड़ियों को होटल में ही रहना पड़ रहा है तथा ब्रिस्बेन में चौथे टेस्ट मैच के लिये इससे भी कड़े नियम जारी किये गये हैं जहां खिलाड़ी अपने कमरों से भी बाहर नहीं निकल पाएंगे।

भारतीय कप्तान ने इस संबंध में पूछे गये कई सवालों के जवाब में कहा, ‘‘हम इससे परेशान नहीं हैं लेकिन हां यह कुछ चुनौतीपूर्ण है क्योंकि सिडनी में जिंदगी सामान्य नजर आती है। हम कतई परेशान नहीं हैं क्योंकि हम जानते हैं कि यहां हमारी प्राथमिकताएं क्या हैं। ’’

माना जा रहा है कि क्वीन्सलैंड में इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) जैसा जैव सुरक्षित माहौल होगा जहां खिलाड़ी एक दूसरे से मिल सकते हैं। रहाणे ने दौरे से हटने की अज्ञात रिपोर्टों को दरकिनार करते हुए स्पष्ट किया कि टीम का ध्यान गुरुवार से सिडनी में शुरू होने वाले तीसरे टेस्ट मैच पर है।

रहाणे ने कहा, ‘‘हम सभी तैयार हैं और हम अच्छी क्रिकेट खेलना चाहते हैं। हम जानते हैं कि सिडनी में जिंदगी सामान्य है लेकिन खिलाड़ी अपने कमरों तक सीमित है जो ठीक है। हम जानते हैं कि इससे कैसे निबटना है और हम किसी भी तरह की परिस्थिति के लिये तैयार हैं। ’’

मेलबर्न टेस्ट में भारत की जीत के नायक ने कहा, ‘‘हम किसी चीज की शिकायत नहीं कर रहे हैं और केवल मैच पर ध्यान दे रहे हैं। हम अच्छी शुरुआत करना चाहते हैं। ’’

रहाणे जब पृथकवास से जुड़े सभी सवालों का एक जैसा जवाब दे रहे थे तब उन्होंने सिडनी में तीसरा टेस्ट मैच समाप्त होने के बाद टीम के स्वदेश लौटने की संभावना संबंधी प्रश्न को भी टाल दिया।

उन्होंने कहा, ‘‘हम खिलाड़ी हैं और केवल इस टेस्ट मैच पर ध्यान दे रहे हैं और प्रबंधन फैसला करेगा। जहां तक हमारी बात है तो यह मैदान पर अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने से जुड़ा है। टेस्ट मैच कल से शुरू हो रहा है और हम एक टीम के रूप में अच्छा प्रदर्शन करके मैच जीतना चाहते हैं। ’’

भारतीय क्रिकेट बोर्ड और क्रिकेट आस्ट्रेलिया के शीर्ष अधिकारी क्वीन्सलैंड में खिलाड़ियों को संभावित राहत देने के बारे में बात कर रहे हैं।

रहाणे ने कहा, ‘‘अगर खिलाड़ी मैदान पर साथ में होते हैं तो फिर होटल में पहुंचने पर कमरों तक ही सीमित कैसे रह सकते हैं। कम से कम वे एक दूसरे से बात तो कर सकते हैं और शाम को साथ में भोजन कर सकते हैं। ’’

भाषा

पंत

पंत

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password