शेयर बाजारों में दो दिन से जारी गिरावट पर लगा ब्रेक, तेजड़िया लिवाली से सेंसेक्स 834 अंक उछला

मुंबई, 19 जनवरी (भाषा) वैश्विक बाजारों की तेजी का असर घरेलू बाजारों में भी देखा गया। इसके चलते शेयर बाजारों में दो दिन से जारी गिरावट का रुख मंगलवार को पलट गया। बंबई शेयर बाजार (बीएसई) में ताजा लिवाली से संवेदी सूचकांक 834 अंक उछलकर 49,400 अंक के करीब पहुंच गया।

अमेरिका और अन्य अर्थव्यवस्थाओं में नया प्रोत्साहन पैकेज मिलने की उम्मीद बढ़ने से निवेशकों में विश्वास जगा है जिससे वैश्विक बाजारों में लिवाली बढ़ी है।

कारोबार की समाप्ति पर सेंसेक्स 834.02 अंक यानी 1.72 प्रतिशत उछलकर 49,398.29 अंक पर बंद हुआ। सेंसेक्स में 25 सितंबर 2020 के बाद एक दिन की यह सबसे बड़ी बढ़त है। उस दिन सेंसेक्स में 835 अंक का उछाल दर्ज किया गया था।

इसी प्रकार नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 239.85 अंक यानी 1.68 प्रतिशत बढ़कर 14,521.15 अंक पर पहुंच गया।

सेंसेक्स के शेयरों में बजाज फिनसर्व सबसे अधिक 6.77 प्रतिशत चढ़ गया। इसके साथ ही बजाज फाइनेंस, एचडीएफसी, लार्सन एण्ड टुब्रो, आईसीआईसीआई बैंक, सन फार्मा और एनटीपीसी के शेयरों में भी वृद्धि रही। एचडीएफसी और एचडीएफसी बैंक, रिलायंस इंडस्ट्रीज और आईसीआईसीआई बैंक का सेंसेक्स की वृद्धि में करीब करीब आधे का योगदान रहा।

सेंसेक्स में शामिल शेयरों में केवल तीन –टेक महिन्द्रा, आईटीसी और महिन्द्रा एण्ड महिन्द्रा– में ही 0.54 प्रतिशत तक गिरावट रही।

रिलायंस सिक्युरिटीज के रणनीति प्रमुख बिनोद मोदी के अनुसार पिछले दो कारोबारी सत्रों में जबर्दस्त गिरावट के बाद घरेलू शेयर बाजारों में मुख्य तौर पर वैश्विक बाजारों से बेहतर संकेत मिलने का असर रहा। उन्होंने कहा, ‘‘जेनेट येलेन की ओर से अर्थव्यवस्था को मजबूत समर्थन देने की संभावना जैसा सकारात्मक बयान दिये जाने से दुनियाभर में निवेशकों का विश्वास मजबूत हुआ है।’’

अमेरिका के निर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडेन ने फैडरल रिजर्व की पूर्व प्रमुख जानेट येलेन को वित्त मंत्री के लिये नामित किया है। उन्होंने अमेरिकी कांग्रेस से आह्वान किया है कि आर्थिक मंदी से लड़ने और यहां तक कि और ज्यादा गिरावट से बचने के लिये और कदम उठाये जाने की आवश्यकता है। येलेन ने कहा कि कोरोना वायरस टीके के वितरण के लिये और सहायता की जरूरत है।

जियोजित फाइनेंसियल सविर्सिज के शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा, ‘‘बाजार को उस स्थिति में और प्रोत्साहन मिलेगा जब अमेरिका में अतिरिक्त प्रोत्साहन पैकेज दिया जायेगा। हालांकि, बाजार में हाल के उतार चढ़ाव के पीछे ऊंचा मूल्यांकन और बॉंड प्रतिफल को लेकर चिंता है। ऐसे में निवेशकों को ध्यान रखने की जरूरत है। ’’

एशिया के अन्य बाजारों में हांग कांग, सिओल और टोक्यो अच्छी बढ़त लेकर बंद हुये वहीं शंघाई में गिरावट रही। यूरोप के शेयर बाजारों में शुरुआत तेजी के साथ रही।

वैश्विक बाजार में ब्रेंट क्रूड 1.22 प्रतिशत बढ़कर 55.42 डालर प्रति बैरल पर चल रहा था। वहीं डालर के मुकाबले रुपया 11 पैसे बढ़कर 73.17 रुपये प्रति डालर पर बंद हुआ।

भाषा

महाबीर मनोहर

मनोहर

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password