Senior Congress Leader Mahesh Joshi: वरिष्ठ कांग्रेस नेता जोशी का निधन, कमलनाथ समेत कांग्रेसियों ने जताया शोक... -

Senior Congress Leader Mahesh Joshi: वरिष्ठ कांग्रेस नेता जोशी का निधन, कमलनाथ समेत कांग्रेसियों ने जताया शोक…

भोपाल। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता महेश जोशी का शुक्रवार रात 10 बजे निधन हो गया है। स्वास्थ्य खराब होने के चलते वह लंबे समय से अस्पताल में भर्ती थे। शुक्रवार रात 10 बजे उन्होंने अंतिम सांस ली। जोशी का अंतिम संस्कार शनिवार को इंदौर में किया जाएगा। जोशी की पार्थिव देह को उनके इंदौर के ओल्ड पलासिया घर पर ले जाया जाएगा। यहां उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा। जोशी के निधन पर कांग्रेस के दिग्गज नेताओं ने शोक व्यक्ति किया है। कमलनाथ ने ट्वीट करते हुए लिखा कि कांग्रेस के वरिष्ठ नेता महेश जोशी के दुखद निधन का समाचार प्राप्त हुआ है। परिवार के प्रति मेरी शोक संवेदनाएं हैं। कांग्रेस पार्टी के प्रति उनका समर्पण, जनहित में उनके किये गये कार्य, उनकी स्पष्टता, बेबाक़ी, ज़िंदादिली, लोगों को अपना बनाने की शैली, कभी भुलायी नहीं जा सकती है। उनका निधन कांग्रेस पार्टी के लिये एक अपूरणीय क्षति है।

आज इंदौर में होगा अंतिम संस्कार…
कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता नरेंद्र सलूजा ने बताया कि शनिवार को अंतिम यात्रा उनके निवास E – 1 ओल्ड पलासिया , इंदौर से दोपहर 1 बजे निकलकर रामबाग मुक्तिधाम पहुंचेगी। महेश जोशी ने लंबे समय तक कांग्रेस संगठन और सरकार में कई दायित्वों को बखूबी निभाया है। वह मप्र के एक लोकप्रिय नेता और अखिल भारतीय कांग्रेस के सदस्य भी रहे हैं। बता दें कि जोशी अपनी दो टूक बातों के लिए जाने जाते थे। जब मप्र में 2003 में दिग्विजय सिंह हारे थे तो उन्होंने कहा था कि कांग्रेस को जिताने योग्य लोग अभी भी दिग्विजय के साथ हैं, लेकिन हम कांग्रेस को एक प्राइवेट लिमिटेड नहीं बनने देंगे। जोशी कभी-कभी तो राहुल गांधी और सोनिया गांधी जैसे शीर्ष नेतृत्व पर भी वार करने से नहीं झिझकते थे।

बता दें कि महेश जोशी के बेटे पिंटू जोशी भी राजनीति में हैं। वहीं उनके भतीजे अश्विन जोशी भी विधायक रहे हैं। कांग्रे प्रवक्ता केके मिश्रा ने जोशी के निधन पर एक ट्वीट कर दुख जताया है। मिश्रा ने लिखा, “मेरे व्यक्तिगत राजनैतिक गुरू, जिन्होंने मुझे कांग्रेस में प्रवेश करवाया, तराशा, सिद्धान्तों के ख़ातिर, उनसे कुछ मुद्दों पर मतभेद भी हुए। किन्तु उन्होंने अपने विराट कद, प्यार रूपी ऊंचाई से मुझे हमेशा बौना कर दिया। उनका निधन मेरी व्यक्तिगत क्षति, पूज्य गुरु को प्रणाम।”

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password