Scrub Typhus Health Alert : अलर्ट! एमपी के 3 शहरों में स्क्रब टायफस का खतरा, स्वास्थ्य विभाग ने किया अलर्ट

जबलपुर। देश में कोरोना की चौथी लहर के खतरे की दस्तक के बीच मध्य प्रदेश में एक नया खतरा मंडरा रहा है। दरअसल स्क्रब टायफस को लेकर मध्य प्रदेश में अलर्ट जारी कर दिया गया है। आपको बता दें फिलहाल ये अलर्ट मध्य प्रदेश के 3 जिलों जबलपुर, सतना और मंदसौर के लिए ही है। अलर्ट जारी होने के बाद स्वास्थ्य विभाग सतर्क हो गया है।

इसलिए मंडरा रहा है खतरा —
आपको बता दें प्रदेश के सतना, जबलपुर और मंदसौर में स्क्रब टायफस और बोर सेलॉसेस का खतरा बरकरार है। ऐसा इसलिए कहा जा रहा है क्योंकि साल 2021-22 में भी स्क्रब टायफस के सबसे ज्यादा मरीज़ इन्हीं जिलों से सामने आए थे। जिसके अनुसार स्वास्थ्य विभाग किसी भी प्रकार का रिस्क नहीं लेना चाहता। इसलिए एहतियातन तौर पर संचालनालय चिकित्सा एवं स्वास्थ्य सेवाओं द्वारा इन 3 जिलों में रिसर्च प्रोजेक्ट चलाने का फैसला लिया है। जिसमें एम्स भोपाल की सहायता भी ली जा रही है।

कोरोना जैसे लक्षण
आपको बता दें इस बीमारी के लक्षण कोरोना से मिलते जुलते होने के कारण इसे लेकर अलर्ट जारी किया गया है। बीते साल स्क्रब टायफस के 17 केस सामने आए थे। जबकि 52 मरीज संदिग्ध थे। इस आंशका को देखते हुए आम जनता से अपील की गई है कि तेज बुखार, सर्दी, खांसी हाथ पैर में दर्द, सांस लेने में तकलीफ संबंधित समस्या का अहसास होने पर बिना देरी किए तुरंत अपनी जांच करवाएं। आपको बता दें फिलहाल इसकी जांच के लिए सैंपल भोपाल जिनोम सीक्वेंसिंग के लिए भेजने की व्यवस्था की गई है।

कैसे फैलता है स्क्रब टायफस —
डॉक्टर्स की मानें तो यह बीमारी चूहों में पाए जाने वाले पिस्सुओं से फैलती है। जो इंसानों तक पहुंचती है। यूएस सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल (सीडीसी) के अनुसार स्क्रब टाइफस एक बीमारी है जो ओरिएंटिया त्सुत्सुगामुशी बैक्टीरिया के कारण होती है। जो इंसानों में संक्रमित चिगर्स (लार्वा माइट्स) के काटने से फैलती है। आपको बता दें इसे बुश टाइफस के नाम से भी जाना जाता है।
यह एक बैक्टीरिया जनित बीमारी है। यह समय के साथ सेंट्रल नर्वस सिस्टम, कार्डियो वेस्कुलर सिस्टम, गुर्दे, सांस से जुड़ी और गैस्ट्रोइन्टेस्टाइनल सिस्टम को प्रभावित करती है। कई मामलों में मल्टी ऑर्गन फेल्योर यानि शरीर के अंगों के काम बंद कर देने के कारण रोगी की मौत भी हो सकती है।

स्क्रब टायफस के लक्षण —
बुखार और ठंड लगना इसके लक्षणों में शामिल है।

कोविड की तरह ही इससे सिरदर्द, शरीर में दर्द और मांसपेशियों में दर्द होता है।

कोविड से कैसे है अलग —
हालांकि स्क्रब टाइफस रोगी कोविड -19 से कई मामलों में अलग भी होता है। जैसे इस बीमारी में व्यक्ति की सूंघने और स्वाद की क्षमता में कोई फर्क नहीं पड़ता। तो वहीं कुछ रोगियों को जोड़ों में दर्द की शिकायत भी होती है। जैसे चिकनगुनिया में होती थी।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password