अंटार्कटिका के लिए वैज्ञानिक अभियान दल छह जनवरी को गोवा से रवाना होगा -

अंटार्कटिका के लिए वैज्ञानिक अभियान दल छह जनवरी को गोवा से रवाना होगा

पणजी, चार जनवरी (भाषा) अंटार्कटिका के लिए भारत का 40वां वैज्ञानिक अभियान बुधवार को गोवा से 43 सदस्यों के साथ रवाना होगा। अधिकारियों ने सोमवार को बताया कि कोविड-19 की पाबंदियों के चलते सामान्य तौर पर अभियान पर 100 सदस्यों के जाने के बजाए आधे से भी कम सदस्य जा रहे हैं।

गोवा में ध्रुवीय एवं समुद्री शोध राष्ट्रीय केंद्र (अंटार्कटिका अभियान और ढांचा) के समूह निदेशक जावेद बेग ने कहा कि टीम में वैज्ञानिक, इंजीनियर, डॉक्टर और तकनीशियन शामिल हैं।

ध्रुवीय एवं समुद्री शोध राष्ट्रीय केंद्र (एनसीपीओआर), इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन (आईओसी) और डाक विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों ने सोमवार को दक्षिण गोवा के वास्को शहर में स्थित मोर्मुगोवा पत्तन न्यास (एमपीटी) पर टीम को औपचारिक रूप से विदा किया। आईओसी अभियान के लिए ईंधन मुहैया करा रहा है वहीं डाक विभाग ने इस अवसर पर विशेष डाक टिकट जारी किया है।

आईओसी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने यहां बताया कि पोत बुधवार को पत्तन से रवाना होगा और यहां से यह दक्षिण अफ्रीका के केप टाउन जाएगा।

बेग ने कहा कि अभियान के तीन सदस्यों और उनके साथ कुछ अन्य सदस्यों की यहां गोवा मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल में गहन जांच की गई।

उन्होंने कहा कि इसके बाद उन्हें 14 दिनों तक संस्थागत पृथक-वास में रखा गया जहां उनका कई दौर का आरटी-पीसीआर जांच हुआ। इसके साथ ही पोत को सैनिटाइज किया गया और चिकित्सा सुविधाओं को उन्नत बनाया गया।

बेग ने कहा कि एमपीटी केप टाउन जाएगा जहां से यह करीब 18 दिनों में अंटार्कटिका पहुंचेगा।

केप टाउन में अभियान में दो हेलकॉप्टर भी शामिल होंगे। वहां से पोत अंटार्कटिका में भारत के भारती अनुसंधान स्टेशन पहुंचेगा।

इसके बाद पोत अंटार्कटिका में देश के दूसरे अनुसंधान स्टेशन मैत्री पर जाएगा।

भाषा नीरज नीरज उमा

उमा

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password