Satna Murder : सड़क किनारे सो रहा था मजदूर, सिरफिरे ने आकर सिर को पत्थरों से कुचला, हुई मौत

सतना। जिले में दिल दहलाने Satna Murder वाली वारदात सामने आई है, यहां एक सिरफिरे ने बेवजह सड़क किनारे सो रहे मजदूर की हत्या कर दी। सिरफिरे ने मजदूर की सिर को पत्थर से कुचल दिया। पूरी घटना सीसीटीवी में कैद हो गई। घटना के बाद आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। स्थानीय लोगों के मुताबिक आरोपी की मानसिक हालत भी ठीक नहीं है। उधर मृतक की पहचान रामजी चौधरी उर्फ बड़कू के रूप में हुई है जो कुंदहरी निवासी था और सतना में पल्लेदारी का काम करता था।

पुलिस कर रही जांच
वही इस मामले में पुलिस का कहना है कि आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है। आरोपी से पूछताछ की जा रही है। जल्द ही और खुलासे की उम्मीद है। उधर इस घटना के बाद से प्रशासन पर सवाल उठने लगे है। लोगों का​ कहना है कि अगर आरोपी की मानसिक हालत ठीक नहीं है तो उसे सड़कों पर ऐसे ही क्योंं छोड़ा गया था। अगर बाद में ​आरोपी जेल से छूटकर आता है और ऐसी घटना दोबारा कर सकता है। ऐसे में प्रशासन को उसे अस्पताल या अन्य जगहों पर रखना चाहिए जहां पर वो किसी को नुकसान न पहुंचा सके।

बुजुर्ग का शव कुचलते हुए निकल गए कई वाहन
कुछ दिन पहले रीवा जिले में इंसानियत और प्रशासन को शर्मसार कर देने वाला मामला सामने आया है। यहां एक बुजुर्ग का शव बीच सड़क पर दो दिन तक पड़ा रहा। लोग रफ्तार में उसके ऊपर से गाड़ियां दौड़ाते रहे, लेकिन पुलिस को भनक तक नहीं लगी। आखिर राहगीरों की शिकायत पर पुलिस ने मामले पर संज्ञान लिया।

ये है मामला
17 फरवरी को रीवा जिले के सोनवर्षा गांव में रहने वाले 75 साल के संपतलाल अपनी बेटी से मिलने के लिए चुरहट जा रहे थे। इसी दौरान किसी वाहन ने उनको शॉर्किन बायपास पर टक्कर मार दी और वह सड़क पर गिर पड़े, लेकिन किसी ने सुध नहीं ली बल्कि कई वाहन उनको कुचलते हुए निकल गए। पूरी रात गाड़ियां बुजुर्ग के शव को कुचलती रहीं। वहीं किसी बड़े वाहन की टक्कर से शव रोड किनारे पर आ गया।

दो दिन तक सड़क पर पड़ा रहा शव 
करीब दो दिन तक शव वहीं पड़ा रहा, रातभर पुलिस भी गश्त पर रही, लेकिन इस घटना के बारे में किसी को पता तक नहीं चला। जब सुबह देखा तो वहां सिर्फ टूटी हुई हड्डियां मांस के टुकड़े और कंबल के साथ कपड़े दिख रहे थे। इतना ही नहीं दूसरे दिन भी कई गाड़ियां ऊपर से निकलती रहीं।

दो दिन बाद 20 फरवरी को राहगीरों ने पुलिस को जानकारी दी। फिर पुलिस को कपड़े में बांधकर बुजुर्ग की हड्डियां समेटकर ले जानी पड़ीं। वहीं मृतक के परिजन जब उसको खोजते हुए पुलिस थाने पहुंचे तब उनकी पहचान हो सकी। पुलिस ने पोस्टमार्टम के लिए हडि्डयों को संजय गांधी अस्पताल भिजवाया है।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password