Satna Loot Case : साढ़े 4 करोड़ की लूट का पर्दाफाश ,नौकर ही निकला लूट का मास्टरमाइंड

Satna Loot Case

सतना। शहर में खनिज कारोबारी से साढ़े 4 करोड़ की Satna Loot Case  लूट का पुलिस ने खुलासा कर दिया है। 36 घंटे में पुलिस ने 4 आरोपियों को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की। मामले में एक आरोपी फरार है, जिसकी तलाश की जा रही है। मामले में फरियादी के नौकर की अहम भूमिका है। जिसे कुछ दिन पहले फरियादी ने नौकरी से निकाल दिया था।

3 करोड़ नगद और 3 किलो सोना लूट लिया
नौकर ने अपने रिश्वतेदारों के साथ मिलकर लूट की वारदात को अंजाम दिया था। आरोपियों ने 24-25 की दरमियानी रात को खनिज कारोबारी श्रवण पाठक के फार्म हाउस पर लूट की थी। जहां चौकीदार को बंधक बनाकर मारपीट की और फिर फार्म हाउस पर रखे 3 करोड़ नगद और 3 किलो सोना लूट लिया था।

10 हजार का इनाम घोषित किया था
आरोपियों पर पुलिस ने 10 हजार का इनाम घोषित किया था। वहीं आरोपियों की निशानदेही पर 2 करोड़ 25 लाख नगद और 3 किलो सोना बरामद कर लिया गया है साथ ही 3 बाइक और लूट के पैसे से खरीदे वाहन भी जब्त कर लिए हैं।

गौरतलब है कि एक दिन पहले सतना जिले में चोरों ने एक पूर्व मंत्री के भाई के घर पर धावा बोला था। यहां से चोरों ने तीन करोड़ नगदी और तीन किलो सोना चुरा लिया था। इतना ही नहीं यहां रहने वाले केयर टेकर को बंधक बनाकर चोरों ने वारदात को अंजाम दिया था। दरअसल सतना के भनजुना रोड स्थित शिवपुरवा मदरेह फार्म हाउस पर मंगलवार रात बदमाशों ने धावा बोलकर केयरटेकर को बंधक बना लिया था। इसके बाद बदमाश वहां से 3 करोड़ रुपए कैश और 3 किलो सोने के जेवर ले उड़े। सूचना पर रीवा के डीआईजी अनिल सिंह कुशवाहा और एसपी धरमवीर सिंह यादव ने मौके का मुआयना कर विशेष टीमों के जरिए पतासाजी शुरू करा दी। वारदात पूर्व मंत्री बृजेंद्र नाथ पाठक के भाई डॉ. राजीव पाठक के फार्म हाउस में हुई।

सोने के जेवरात भी ले उड़े चोर…
उनका निवास चाणक्यपुरी कॉलोनी में है। डॉ. पाठक तथा श्रवण पाठक ने पुलिस को बताया कि सुरक्षा की दृष्टि से कैश और सोने के जेवरात फॉर्म हाउस में रखे थे। वहां एक केयरटेकर रहता है। मंगलवार तथा बुधवार की दरम्यानी रात चार-पांच हथियारबंद बदमाश पहुंचे और केयरटेकरके हाथ-पैर बांधकर खेत में डाल दिया। इसके बाद नगद रुपए व सोना लेकर चंपत हो गए। उधर, पुलिस को इतनी बड़ी राशि फार्म हाउस में रखे जाने को लेकर संदेह है। इस मामले में रीवा के डीआईजी अनिल सिंह कुशवाहा ने कहा कि डॉ. राजीव पाठक तथा उनके पिता श्रवण पाठक खदान कारोबारी हैं। इन्हें सीमेंट फैक्ट्रियों के लिए दी गई जमीन से कैश में रॉयल्टी मिलती है। यही कैश यहां रखा गया था। पुलिस केयरटेकर से पूछताछ कर चोरों की तलाश में जुट गई है।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password