Samudrik Shastra : पैर की अंगुलियां तय करेंगी भविष्य, देख सकते हैं आप भी, जानें कैसे

samudrik shashtra

नई दिल्ली। जिस तरह हिन्दु धर्म शास्त्र Samudrik Shastra में कुंडलियों और ग्रहों के माध्यम से हम अपना भविष्य जानने की कोशिश करते हैं ठीक उसी तरह सामुद्रिक शास्त्र की मदद से हम किसी शरीर की बनावट, रंग, आकार से व्यक्तित्व की पहचान, foot finger reading भविष्य और व्यक्ति के स्वभाव के बारे में अंदाजा लगा सकते हैं। अगर आप भी किसी व्यक्ति के भविष्य और राज जानना चाहते हैं तो ये विद्या आपके लिए कारगार साबित हो सकती है। आइए जानते हैं कैसे —

भाग्यशाली होते हैं ये —
अंगूठे के बाजू वाली अंगुली यदि बड़ी हो तो ऐसे लोगों को भाग्यशाली माना जाता है। ये लोग समझदार तो होते ही हैं साथ ही इन्हें भविष्य में धन संचय करके चलने वाला व्यक्ति मिलता है। पैसा जोड़ने की कला में माहिर होते हैं। इन्हें काम करने के लिए ज्यादा मशक्त नहीं करनी पड़ती। बड़ी ही आसानी से इनके काम बनते चले जाते हैं।

ऐसे लोगों के पास होती है संपत्ति —
सामुद्रिक शास्त्र के अनुसार यदि पैर के अंगूठे और उसके बाजू वाली अंगुली यानि तर्जनी की लंबाई अगर बराबर होती है तो ऐसे लोगों समझदार जीवनसाथी मिलता है। इसके अलावा ऐसे व्यक्ति सुखी व धनवान माने जाते हैं। समझदार जीवनसाथी इनके परिवार को लेकर चलता है। जो भविष्य में मजबूत नींव का कारण बनते हैं।

आपस में सटी हो अंगुली —
सामुद्रिक शास्त्र के अनुसार यदि आपके पैर का अंगूठा और बाजू वाली आपस में चिपकी हो तो उसका जीवन बड़े ही संघर्ष के साथ गुजरता है। हर चीज को ​हासिल करने में उन्हें बहुत मशक्कत करनी पड़ती है।

अंगूठा बड़ा हो, तो समझ लें शांत है व्यक्ति —
सामुद्रिक शास्त्र में ऐसा माना जाता है कि जिसके पैर का अंगूठा बाजू वाली अंगूली से बड़ा हो तो ऐसा व्यक्ति बड़े ही शांत स्वभाव का माना जाता है। इसके लिए एक कमजोरी यह होती है कि कोई भी इनसे अपनी बात आसानी से मनवा लेता है। जिसके चलते ये कई बार अन्य लोगों से ठग भी जाते हैं।

अत्यंत भाग्यशाली होते हैं ऐसे व्यक्ति —
अगर किसी व्यक्ति के पैर की पांचों अंगुलिया यानि अंगूठा और बाकी चार अंगुलिया आपस में बराबर हों तो ऐसे लोगों को भाग्य सबको पछाड़ देता है। ये अत्यंत भाग्यशाली माने जाते हैं। ऐसे व्यक्ति जीवन में अपार पैसा, दौलत, शोहरत पाते हैं।

आखिरी दो अंगुलियां हो बराबर —
जिनके पैर की आखिरी दो अंगुलियां यानि अनामिका और कनिष्टिका एक बराबर हों तो ऐसे लोग बेहद आज्ञाकारी होते हैं। जिसके चलते वे सबसे मन में अपनी जगह बनाकर चलते हैं। ऐसे लोगों के अपने बच्चे के कारण दुनिया में नाम होता है।

घटते क्रम में जमी हो अंगुलियां —
कुछ लोगों के पैर की अंगुलिया अंगूठे के बाद घटते क्रम में छोटी होती जाती हैं। ऐसे लोग दूसरों पर अपना हक जमाना चाहते हैं। ये हमेशा चाहते हैं कि हर कोई ​इनकी बात मानें । जिसके चलते अक्सर इनके विवाद भी होते रहते हैं।

नोट : इस लेख में दी गई सूचनाएं सामान्य जानकारियों पर आधारित है। बंसल न्यूज इसकी पुष्टि नहीं करता। अमल में लाने से पहले विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password